दिल्ली और कानपुर से पैदल ही मजदूर चले घर की ओर भूख प्यास देख चिनहट पुलिस ने खिलाया खाना

अहमद सौदागर

लखनऊ। चाइना से फैली कोरोना वायरस जैसी महामारी बीमारी ने आसपास के देशों के अलावा भारत को भी अपनी चपेट में ले लिया।
इस बीमारी की आहट मिलते ही पूरे देश और प्रदेश में मानव हाहाकार मच गया।
इस खतरनाक महामारी से निपटने के लिए केन्द्र सरकार ने पूरे देश में एक दूसरे से मिल ना सके इसके लिए लाकडाउन करने के साथ-साथ जनता कर्फ्यू भी लगा दिया।
राजधानी लखनऊ में गुरुवार को अलग-अलग थाना क्षेत्रों में अजीबोगरीब मंजर देखने को मिला।
कोई दिल्ली से पैदल गांव जाते दिखा तो कोई कानपुर से। चिनहट थाना क्षेत्र के फैजाबाद रोड स्थित सीबीडी कालेज के सामने एक परिवार सहित कई ऐसे लोग मिले जो भूखे प्यासे अपने घरों की और कूच करते दिखे। गोरखपुर निवासी अक्षय कुमार अपनी बहन रीमा व भांजी दीपावली तथा जीजा कुलदीप के साथ दिल्ली से यानी 500 से अधिक किलोमीटर की पैदल यात्रा कर जा रहे थे, जबकि करीब 2 दर्जन से अधिक दिल्ली एवं कानपुर में मजदूरी करने वाले लोग भी पैदल ही अपने घरों के लिए जाते दिखे।
वही इन लोगों को पैदल जाते देख इस्पेक्टर चिनहट क्षितिज तिवारी ने रोककर हाल पूछा तो वे फफक पड़े।
उनके चेहरे पर भूख और प्यास झलक रही थी।
यह देख चिनहट पुलिस आनन-फानन में खाने का इंतजाम कर उन्हें खाना खिलाया तब जाकर उनके चेहरे पर जरा सी बुलंदी नजर आई।

Back to top button