कोरोनावायरस चाइना से, भुगत रहा भारत महामारी के खौफ ने दिहाड़ी मजदूरों को किया पलायन के लिए मजबूर

ए अहमद सौदागर

लखनऊ। -चाइना से कोरोना वायरस जैसी महामारी बीमारी ने देश और प्रदेश को भी दहशत में डाल दिया।
इस प्रकोप के कहर के चलते पूरे यूपी की सड़कों एवं गलियों को सन्नाटा होने के लिए मजबूर कर दिया।
खतरनाक महामारी का खौफ इस कदर बढ़ना शुरू हुआ कि शासन प्रशासन को देश व प्रदेश के सभी जिलों में लाॉकडाउन करना पड़ा, ताकि लोग अपने अपने घरों से बाहर न निकलें।
वही कोरोनावायरस के बाद कामकाज बंद होते ही दूर-दूर के जिलों एवं आसपास में काम करने वाले दिहाड़ी मजदूर अपने अपने घरों पर जाने के पैदल ही जाना शुरू कर दिया।
कोई अपने घर बाहर न निकलें, इसके लिए पुलिस ने प्रमुख चौराहों तथा सीमाओं पर बैरिकेडिंग लगा दिया है।
करीब 2 माह पूर्व कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप चाइना उसके बाद इटली तथा अन्य विदेश मुल्कों में फैलते हुए हिंदुस्तान की सीमा को पार कर गया और देखते ही देखते कई लोगों को इस महामारी ने अपने चपेट में ले लिया।
चाइना में महामारी ने सैकड़ों की जान ली इसके बाद इटली देश इसे शायद हल्के में लिया नतीजतन इटली में मौतों का सिलसिला इस कदर शुरू हुआ कि कई घर मातम में तब्दील हो गया।
इस प्रकोप का कहर देख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंभीरता से लिया और देश व प्रदेश का कोई शक इसकी चपेट में ना आए इसके लिए आनन-फानन में जनता कर्फ्यू के साथ-साथ लाक डाउन के जाने का फरमान जारी किया।
प्रधानमंत्री ने लोगों से कहा की वे प्रधानमंत्री की हैसियत से नहीं, बल्कि एक परिवार की हैसियत से अपील कर रहा हूं की इस् बीमारी से बचने के लिए अपने घरों में ही रहे।
फिलहाल प्रधानमंत्री की अपील सुनते ही लोग अपने-अपने घरों में रहने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं। हालांकि कुछ इसे हल्के में लेने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उन्हें शायद यह पता नहीं है कि कोरोनावायरस एक महा बीमारी है वह किसी को भी अपने चपेट में ले सकती है।
,,,,
चाइना में हुई कई मौतों से इटली नहीं लिया सबक
चलीं गईं सैकड़ों की जानें
भारत ने लिया संज्ञान
पूरे देश में लाकडाउन कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को अपने अपने घरों में रहने
के लिए अपील की।
,,,,

Back to top button