बिना मास्क सुरक्षा व्यवस्था का कैसे बनाएं भोजन रसोई संघ अध्यक्ष ने डीएम से की शिकायत

अंबेडकरनगर -पूरे मुल्क में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप बहुत तेजी से बढ़ रहा है जिस पर लगाम लगाना बड़ा मुश्किल हो चुका है इस पर न तो डॉक्टर और न ही शोधकर्ता इसकी दवा निकाल पा रहे हैं इसी के कारण इसका रोकथाम नहीं हो पा रहा है सभी वैज्ञानिक लाचार हैं एक तरफ कहा जाए खुदा के कहर से फेल साबित हो रहे हैं देश व प्रदेश में लोग कमाने खाने के लिए गए थे अचानक देश में लाक डाउन हो जाने के कारण वे लोग घर पर नहीं आ सके थे शासन प्रशासन द्वारा आदेश दिया गया कि कोई भी व्यक्त यदि गांव में आता है तो इसकी सूचना ग्राम प्रधान तथा पंचायत के सभी सदस्य लोग देंगे सबसे पहले उनका मेडिकल टेस्ट होगा और उनको रुकने के लिए 14 दिन तक गांव के आसपास विद्यालय में उनको रोका जाएगा वहीं पर उनको भोजन पानी रहना खाना सब सारी व्यवस्था पंचायत के जिम्मेदारों को होगी वहीं पर विद्यालय में कार्यरत रसोइयों को भी उनको भोजन देने के लिए शासन ने आदेश तो पारित कर दिया की उनका भोजन रसोईया द्वारा पकाकर दिया जाएगा यह आदेश तो दे दिया गया लेकिन उनके लिए न तो मास्क सैनिटाइजर आदि जैसी व्यवस्था नहीं की गई और रसोइयों का कहना है कि हमको अलग से इसका वेतन दिया जाए नहीं तो हम काम कैसे कर पाएंगे इसी बात को लेकर ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी नाराज हो गए उनके ऊपर दबाव बनाकर खाना बनाने के लिए मजबूरन वे रसोईया अपनी नौकरी बचाने के चक्कर में खाना बनाने के लिए मजबूर हैं इसकी शिकायत जिला अधिकारी से रसोइयों के अध्यक्ष कन्यावती वर्मा ने की है

Back to top button