महामारी फैलाने में माहिर चीन, फिर भी अन्य देश बेखबर ताकतवर भी आया चपेट में हिंदुस्तान से लगाया मदद की गुहार

ए अहमद सौदागर

लखनऊ। कड़वा सच पर गौर करें तो चीन यानी चाइना करीब 15 दशक पूर्व में भी इंडिया सहित कई देशों में ताऊन यानी प्लैग वायरस छोड़कर तबाही मचा चुका है, इसके बावजूद चीन से दोस्ती का हाथ बढ़ाकर उससे कारोबार करने से परहेज़ नहीं कर पा रहे हैं।
यही नहीं चाइना मछली एवं मुर्गो के आहार भी कई देशों में सप्लाई करता है। इससे यही साबित होता है कि कहीं न कहीं चीन का सामान जिंदगी के लिए खतरनाक हैॽ
,अब चलें वर्तमान दौर में,
करीब दो माह पूर्व चाइना में कोरोनावायरस महामारी फैली। मौतों का सिलसिला शुरू हुआ और देखते ही देखते लाखों लोग मौत के मुंह में समा गए।
चीन के भीतर सिलसिलेवार हुईं मौतों की खबर आग की तरह फैली, इटली मुल्क इसे हल्के में लिया, नतीजतन वहां पर भी कोरोनावायरस इस कदर रफ्तार बढ़ाया कि सैकड़ों लोगों की मौत हो गई।
वहीं पूरी दुनिया में खुद को सुपर पावर समझने वाला अमेरिका भी इटली तरह तमाशा समझा और वहां पर भी सैकड़ों से अधिक संख्या में लोगों की जान चली गई और अब भी मरने वालों का सिलसिला बदस्तूर जारी है, जो थम नहीं रहा है।
वहीं हिंदुस्तान इसे हल्के में नहीं बल्कि गंभीरता से लिया और आनन-फानन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश वासियों से अपील कर 21 दिन के लिए लाकडाउन घोषित कर दिया। लिहाजा आज भारत फिलहाल कोरोनावायरस जैसी खतरनाक महामारी से निपटने में पूरी तरह से कामयाबी पाने की कगार तक पहुंच गया है।
देखा जाए तो जो देश खुद को सबसे ताकतवर समझ रहा था आज वही इस महामारी से निजात पाने के लिए इंडिया से मदद की गुहार लगा रहा है।
बुजुर्गो की कहावत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हमदर्दी पर सटीक बैठ रही है। अमेरिका के गिड़गिड़ाने पर मोदी को रहम आया और उसकी मदद करने के लिए तैयार हो गए।
हालांकि की हिन्दुस्तान हुकूमत बखूबी समझ रही है कि कुछ ऐसे मुल्क है, जो कभी भी आस्तीन का सांप बन सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद भी हिंदुस्तान हुकूमत किसी की भी मदद करने में पीछे नहीं है।
,महामारी की वापसी,
भारत सहित दुनिया के कई देशों को निशाना बनाने के नापाक इरादे से कोरोनावायरस जैसी महामारी फैलाकर दहशत फैलाने के साथ साथ देखा जाए तो चीन ने कई देशों के भरोसे को तोड़ने काम किया है कि भारत और अन्य देशों को शाय़द नहीं मालूम था कि बीते दशकों की तरह फिर चाइना अपने बदरंग के साथ पेश होगाॽ
सुरक्षा व्यवस्था में तनिक सी हल्का होने की आहट मिलते ही जिस तरह से बेखौफ चाइना ने जिस आसानी से अपने नापाक काम को अंजाम दिया, उससे यह साफ है कि वे आगे भी इस तरह की हरकतें कर सकता है।
फिलहाल महामारी भेजने वाले चीन ने ही देशो में खौफ फैलाने की कोशिश की, लेकिन उससे यह तो इंगित होता है कि कुछ देशों में ऐसे तत्व सक्रिय हैं , जिनका एक सूत्रीय एजेंडा अशांति और खौफ फैलाना।
करीब 15 दशक पहले से लेकर वर्तमान समय में चीन ने दूसरी घटना को अंजाम दिया। आखिर चाइना बार बार ताऊन व कोरोनावायरस जैसी महामारी फैलाकर लोगों की जान क्यों ले रहा हैॽ इसके पीछे चीन की मंशा क्या है। यह सवाल फिलहाल हर उन देशों को बेचैन कर रहा है, जहां कोरोनावायरस ने तबाही मचा रखा है।

Back to top button