मुस्तैदी बढ़ी तो बढ़ा अवैध कारोबार कमिश्नर की सख्ती के बाद पुलिस ने बिछाया जाल 24 घंटे के भीतर सिलसिलेवार हुई गिरफ्तारी के बाद सच आया सामने

सीनियर क्राइम रिपोर्टर
ए अहमद सौदागर

लखनऊ। पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी से शराब माफियाओं एवं मीट कारोबारियों का कारोबार जोर पकड़ने लगा है।
बड़ी गाड़ियों तथा मोटरसाइकिलों पर लादकर भारी मात्रा में शराब व मांस बेचने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं।
इसकी भनक लगते ही पुलिस ने शराब माफियाओं एवं मांस कारोबार से जुड़े लोगों को गिरफ्त में लेने के लिए जाल बिछा दिया है।
राजधानी लखनऊ में अवैध शराब बेचने और बनाने का कारोबार करने वालों तथा अवैध मांस बेचने वालों की जड़े काफी गहरी है।
गौर करें तो इससे पूर्व वर्ष 2015 में माल मलिहाबाद सहित कई थाना क्षेत्रों में कच्ची शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी। इसके बावजूद भी यहां पर शराब कारोबारियों का आतंक थमने के बजाय फिलहाल बढ़ता गया।
यही हाल प्रतिबंध मांस बेचने वाले कारोबारियों का है जो धड़ल्ले से इस काले कारनामे को अंजाम दे रहे हैं।
बीते दिनों से कोरोनावायरस के चलते चल रहे लॉकडाउन के बाद अवैध शराब और अवैध मांस बेचने वाले इस कारोबार से जुड़े तस्करों ने अलग अलग तरीके के हथकंडे अपनाकर गोटिया बिछानी शुरू कर दिया।
गौर करें तो 24 घंटे के लिए राजधानी के अलग-अलग थानों की पुलिस ने कई शराब तस्करों एवं मांस बेचने वाले तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से भारी मात्रा में अवैध शराब व मांस बरामद किया है। इस गिरफ्तारी के बाद यही सामने आ रहा है कि भले ही जगह-जगह पुलिस बल तैनात हो, लेकिन तस्करो का कारोबार धड़ल्ले से फल फूल रहा है।
कोरोनावायरस महामारी से बचने के लिए जहां एक और शासन प्रशासन लोगों को लगातार घरों में रहने के लिए अपील कर रहा है तो वही तस्कर गोरखधंधा करने से बाज नहीं आ रहे हैं।
काला कारोबार करने की सूचना मिलते ही पुलिस नकेल कसी तो तस्कर अलग अलग तरीके अपनाकर शराब पीने वाले शराबियों के हाथों में अवैध शराब बेचना शुरू कर दी।
मांस का कारोबार करने और शराब बेचने के लिए तस्कर द्वारा तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।
पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे के निर्देश पर पुलिस ने शराब माफियाओं एवं मांस तस्करों पर नकेल कसना शुरू कर दिया है।
पुलिस तकरीबन सभी थाना क्षेत्रों में गोरख धंधा करने वाले लोगों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है।
राजधानी लखनऊ में पिछले 24 घंटों के भीतर इसके परिणाम भी सामने आए हैं
गौर करें तो खाके की मुस्तैदी ने ही राजधानी में जड़ें जमा चुके शराब माफियाओं एवं अवैध मांस विक्रेताओं को हवा दे दी है।
जानकार सूत्र बताते हैं कि आका का इशारा मिलते ही शराब माफियाओं के एजेंट व मांस कारोबारियों का इशारा मिलते ही डाला, मोटरसाइकिल व अन्य वाहनों पर अवैध शराब अवैध मांस धड़ल्ले से पहुंचाने में कामयाब हो रहे हैं।
मोहनलालगंज, सरोजिनी नगर, नाका, काकोरी व चौक में पिछले 24 घंटे के भीतर कई कच्ची शराब बेचने वाले पकड़े गए तो सच सामने आया। यही नहीं इंदिरा नगर पुलिस ने पिकनिक स्पॉट रोड स्थित एक चिकन फैक्ट्री में छापा मारकर मौके से 7 लोगों को गिरफ्तार किया और भारी मात्रा में मांस भी बरामद किया। एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि इसको लेकर होमवर्क किया जा रहा है।

Back to top button