कोटेदार की मनमानी के खिलाफ उग्र भीड़ पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

बांकेलाल निषाद

न्याय मांगना पड़ा महंगा, 22 पर मुकदमा, कोटेदार की लूट में छूट।

जनपद अंबेडकरनगर- के रामनगर ब्लाक अंतर्गत रुस्तमपुर ग्राम सभा के कोटेदार राजकिशोर यादव जब राशन बांटना शुरू किया तो प्रति यूनिट 1 किलो कम राशन देने लगा ।जब कार्ड धारक इसका विरोध किए तो वह कार्ड धारको पर फौजदारी आमदार हो गया। देखते-देखते पूरा ग्रामीण कोटेदार के खिलाफ लगभग 200 की संख्या में उग्र हो गये। एआरओ अमरजीत सिंह और पीआरबी हंड्रेड डायल की गई लेकिन एआरो अमरजीत सिंह को हल्के का सेक्रेटरी समझा-बुझाकर कि एक ही लोगों का मामला है उनको संतुष्ट कर दिया ।जैसे ही हंड्रेड डायल पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने का प्रयास की तो ग्रामीण हंड्रेड डायल पर ही आक्रोशित हो गये और भीड़ की उग्रता को देख पीआरवी तत्काल बसखारी थाना अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह को फोन की ।फोन करने पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल पहुंची और उग्र भीड़ को समझाने बुझाने का प्रयास किया कि सबको बराबर राशन दिलाया जाएगा। लेकिन भीड़ कोटेदार के खिलाफ उग्र होती चली गयी। इतने में बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस बल द्वारा ग्रामीणों को पकड़ कर थाने ले आया गया ।न्याय मांग रही उग्र ग्रामीण में से 10 के ऊपर नामजद और 12 अज्ञात के खिलाफ धारा 188, 269 ,271, 147 और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत 51 ख गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ । करीब 200 की संख्या में उग्र ग्रामीणों न्याय के लिए पहुंची लेकिन लॉक डाउन के चलते उल्टे उन्हीं पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया ।अभी तक कोटेदार के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं की गई है। उप जिलाधिकारी के आदेश से थानाध्यक्ष बसखारी द्वारा 22 ग्रामीण के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है । बसखारी अंतर्गत यह दूसरा कोटेदार का मामला है। इसके पहले एक कोटेदार के खिलाफ एक्शन लेने के लिए विधायक संजू देवी के देवर के ऊपर भी मुकदमा दर्ज हो चुका है लेकिन कोटेदार की मनमानी चालू है। गौरतलब है कि पूरे जिले में कोटेदार की शिकायत अधिक मात्रा में है लेकिन इनके खिलाफ एक्शन लेने के बजाय न्याय मांगने वालों के ही खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया जाता है। आखिर यह कहां का न्याय है। कोटेदार रुस्तमपुर का सेक्रेटरी की मौजूदगी में एआरओ की मिलीभगत से घटतौली कर रहा था जिसका विरोध ग्रामीण कर रहे थे लेकिन कोटेदार का बाल बांका ना हुआ उल्टे 22 लोगों के ऊपर ही एफ आई आर दर्ज हो गया । कोरोना बीमारी का नाजायज फायदा उठा कर कोटेदार लूटपाट पर लगे हुए हैं उनके ऊपर कोई नकेल नहीं है।

Back to top button