जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्टर सभागार में महत्वपूर्ण बैठक हुई संपन्न

रिपोर्टर रमेश दीक्षित

सीतापुर- दिनांक-05 मई 2020 (सू0वि0) जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सभी उपजिलाधिकारी क्षेत्र में भ्रमणशील रहकर यह सुनिश्चित करें कि क्वारंटीन स्थलों पर बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि क्वारंटीन स्थलों पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाये तथ भोजन की गुणवत्ता व मात्रा भी ठीक रहे, इसके लिये उपजिलाधिकारी स्वयं जांच करें। क्वारंटीन स्थलों पर भी लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग रखा जाये तथा टायलेट, बाथरूम आदि का नियमित तौर पर सेनीटाइजेशन सुनिश्चित कराया जाये। कम्यूनिटी किचन का भी नियमित रूप से निरीक्षण किये जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये।

जिलाधिकारी ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य विभाग की टीम आवश्यकतानुसार परीक्षण/स्क्रीनिंग कराकर आगमन स्थल के आधार पर अलग-अलग क्वारंटीन करायें तथा होम क्वारंटीन के लिये भेजे गये लोगों की भी निगरानी रखी जाये। यदि कोई व्यक्ति होम क्वारंटीन के निर्देश के बावजूद सार्वजनिक स्थल पर घूमता हुआ मिले तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले में यदि कोई स्किल्ड लेबर या श्रमिक हो तो यह भी सूचीबद्ध किया जाये कि वह पूर्व में किस कार्य/व्यवसाय में लगा हुआ था। जिससे उसके स्किल के आधार पर जनपद में रोजगार उपलब्ध कराया जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि यह सूची उपायुक्त उद्योग एवं श्रम विभाग को भी उपलब्ध करायी जाये। इसके अतिरिक्त राहत किटों एवं राहत राशि का वितरण शासनादेश के प्राविधानों के अनुसार कराये जाने के निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिये।

जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारियों एवं पुलिस क्षेत्राधिकारियों को निर्देशित किया कि लाॅकडाउन से संबंधित नवीन दिशा निर्देशों का उद्घोषणा के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जनपद में अधिक से अधिक लोग आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें यह भी सुनिश्चित करें तथा सार्वजनिक प्रणाली के अन्तर्गत वितरित किये जाने वाले राशन का वितरण पात्रों को पूरी पारदर्शिता के साथ कराया जाये। जिलाधिकारी ने बिना कोरोना प्रोटोकाल का पालन के संचालित प्राइवेट नर्सिंग होम, हास्पिटल एवं क्लीनिक तत्काल बन्द कराते हुये संचालकों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यदि कोई झोलाछाप डाक्टर इलाज करता पाया जाये तो तत्काल उसके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुये जेल भेजा जाये।

बैठक के दौरान पुलिस उपमहानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक एल0आर0 कुमार ने लाॅकडाउन के प्राविधानों को विस्तारपूर्वक बताते हुये कहा कि जनपद में धारा 144 लागू है तथा सभी के लिये मास्क पहनना अनिवार्य है। इसलिये इसका सभी संबंधित अधिकारी कड़ाई पालन कराया जाना सुनिश्चित करें। नियमों के उल्लघंन पर कड़ी कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि मण्डी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित किया जाये तथा हाॅटस्पाट क्षेत्र में कोई छूट नही दी गयी है। इसलिये वहां पर कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाये।

बैठक के दौरान पुलिस उपमहानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक एल0आर0 कुमार, मुख्य विकास अधिकारी संदीप कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आलोक वर्मा, अपर जिलाधिकारी विनय कुमार पाठक, नगर मजिस्ट्रेट पूजा मिश्रा सहित सभी उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी एवं संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे|

Back to top button