मनरेगा मजदूरों के खाते से स्टेट बैंक हड़प रहा है रुपये

अहिबरन सिह एटा

एटा- जनपद मुख्यालय स्थित भारतीय स्टेट बैंक के सीएसपी सेंटर संचालकों द्वारा गरीब मनरेगा मजदूरों के लिए श्रम विभाग के माध्यम से केंद्र सरकार से भेजी जा रही आर्थिक मदद के एक हजार रुपए उन्हें बेवकूफ बनाकर फर्जीवाड़ा करके उनके खातों से रुपए चैक करने के नाम पर निकाल कर हडपे जा रहे हैं।
इस पूरे घोटाले के क्रम में ऐसा नहीं है कि सिर्फ सी एस पी संचालक ही शामिल है उनके साथ बैंक के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल प्रतीत हो रहे है जो शिकायत करने के बाद भी ऐसे सीएसपी संचालकों के विरुद्ध कार्यवाही नहीं करते हैं और न ही गरीब मजदूरों को उनके हक के रुपए दिलाने में कोई मदद करते हैं।आधार कार्ड लिंक करने के नाम पर निकले रूपए ऐसा ही घोटाला आज एटा के जीटी रोड स्थित महारानी लक्ष्मी बाई इंटर कॉलेज के परिसर में संचालित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का सीएसपी सेंटर के संचालक संदीप दीक्षित द्वारा किया गया मजदूर से उसकी पासबुक तथा अंगूठा सिर्फ यह कहकर लगवाया गया कि उसके खाते में आधार कार्ड लिंक नहीं है और उस खाते में आधार कार्ड कार्ड लिंक कराने के स्थान पर उसमें से सरकार द्वारा मनरेगा मजदूरों के लिए भेजी गई आर्थिक मदद के रूप में ₹1000 को फर्जी तरीके से खाते से निकाल लिया गया और जब इसकी शिकायत करने पीड़ित श्याम नारायण पुत्र बृजलाल निवासी हैदरपुर एटा मुख्य ब्रांच शिकोहाबाद रोड पर गया तो बैंक कर्मी द्वारा चेक करने पर उसके खाते से ₹1000 का निकलना 19 मई को दर्शाया गया उसने बताया कि तुम्हारे खाता सही है उसमें पूर्व से ही आधार कार्ड लिंक है तुम्हारे खाते से रुपए भी निकाले गए हैं इससे पहले भी मजदूर एवं महिलाएं ने जनधन खातों से सी एस पी संचालकों द्वारा रुपये निकालने की शिकायत जिला प्रशासन व बैंक अधिकारियों से कर चुके हैं किंतु उनकी सुनने वाला कोई नहीं है।कार्यवाही के स्थान पर मिली धमकियाँ पीड़ित श्याम नारायण ने बताया कि में 21 मई को वह बैंक शिकायत करने गया तथा वहां मौजूद अधिकारियों से संदीप दीक्षित द्वारा आधार कार्ड लिंक करने के नाम पर रुपए निकाल लिए गए जाने की शिकायत की तो उन्होंने कार्यवाही के स्थान पर उल्टे संदीप को फोन कर बैंक बुला लिया उसने मुझे बैंक के अंदर और बहार खूब धमकाया और कहा कि फिर से आए तो तुम्हारा बहुत बुरा हाल होगा प्रार्थी ने खाते से रुपए निकालने तथा आधार कार्ड न देने कि एक तहरीर कोतवाली नगर के एसएसआई को दी उनके द्वारा जांच करा कर कार्यवाही का आश्वासन दिया किन्तु 2 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही न करने तथा पूछने पर फैसला कराने का दबाव बनाने पर एक लिखित तहरीर दर्ज किए जाने के लिए प्रार्थना पत्र कोतवाली नगर में दिया एवं पुलिस द्वारा कार्यवाही न करने पर एक शिकायती पत्र जिला अधिकारी एटा सुखलाल भारती तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह को भी दिया।
किंतु अभी तक न तो प्रार्थी की रिपोर्ट दर्ज की गई है और न ही फर्जी तरीके से खाते से रुपए निकालने के आरोपी संदीप दीक्षित के विरुद्ध कोई कार्यवाही।
आपको बताते चलें कि फर्जी तरीके से खाते से रुपए निकालने की यह पहली घटना नही है इससे पूर्व भी एसबीआई ब्रांच के जीटी रोड पर गांधी स्मारक इंटर कॉलेज के बाहर स्थित सीएसपी सेंटर से एक महिला के खाते से ₹500 वैलेन्स चैक करने के नाम पर रूपये निकालने की शिकायत कर रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।
किंतु दो सप्ताह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी आज तक न तो जिला प्रशासन ने ही कोई कार्यवाही की और न बैंक प्रबंधन ने इस कार्यवाही न करने को क्या माने अधिकारियों या बैंक प्रबंधन का मूक समर्थन या उनकी लूट में शामिल होना? ।

Back to top button