जवाहरलाल नेहरू महाविध्यालय में 100 से अधिक मजदूर काट रहे है एकांतवास

ब्यूरो अहिबरन सिंह

एटा -जिला मुख्यालय स्थित जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय के एकांतवास सेंटर का आज एक वीडियो सोसल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें कोरोना संदिग्धों ने विद्यालय के अंदर भीषण गंदगी तथा सोने के पर्याप्त स्थान न होने का आरोप लगाया गया है साथ ही पूरे विद्यालय में मच्छरों व गंदगी के चलते मच्छरों का भी भीषण प्रकोप है।करना पड़ रहा है कई परेशानियों का सामना कोरोना संदिग्ध एकांतवास में भेजे गए मजदूर ठीक होने के स्थान पर और अधिक बीमार होने के कगार पर पहुंच गए हैं।आज एटा के जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज स्थित एकांतवास सेंटर मैं बाहरी प्रदेशों से आए मजदूरों को एकांतवास में भेजा गया है।प्रशासन द्वारा उनके रोकने की, खाने पीने की समुचित व्यवस्थाएं न होने से वहां रुके गए मजदूरों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है .।वहां टॉयलेट तथा पूरे परिसद में सफाई कर्मचारियों द्वारा न किए जाने से वहां एकांतवास में भेजे गए व्यक्ति स्वयं अपने आप सफाई करते हुए दिखाई दे रहे हैं साथ ही एक ही टॉयलेट में नेगेटिव व पॉजिटिव मरीजों के जाने से संक्रमण फैलने की संभावनाएं प्रबल होती नजर आ रही है यह भी जाने- हिन्दुस्तान यूनिलीवर में फैला कोरोना संक्रमण ,कर्मचारी सहित 4 पॉजिटिव जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज परिसर में जिला प्रशासनव स्वास्थ्य विभाग द्वारा फोगिंग तथा मच्छरों को रोकने की दवाई के छिड़काव की कोई व्यवस्था नहीं की गई है।जिस कारण कालेज परिसर में मौजूद घास, पेड़ों, झाड़ियों आदि स्थानों पर ढेरों मच्छर पैदा हो रहे हैं जिससे एकांतवास में रह रहे मजदूर काफी परेशान हैं साथ ही भीषण गर्मी में समुचित हवा की व्यवस्था भी नहीं है।अधिक लोगों के ठहरने से तथा टायलेट में पानी की भी समुचित व्यवस्था न होने से टाॅयलेट के बाहर भारी दुर्गंध भी आने की बात बताई जा रही है जिले के आला अधिकारियों को यहां आने और व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बाद भी यहां रह लोगों में जिसका जहाँ मन होता है वही विस्तर लगा लेता है घूमता फिरता है । हालात ये हैं कि कुछ लोगों को बरामदे में, कुछ को टॉयलेट के बाहर तो कुछ को खुले मैदान में विस्तर लगाए हुए में देखा जा सकता है।यहाँ लोगों को खाने में सुबह शाम मात्र 4 रोटी और एक दाल या सब्जी दी जाती है बीच में नास्ते आदि की कोई व्यवस्था नहीं है खाने की भी गुणवत्ता अच्छी नहीं हैं शौचालय के बाहर विस्तर लगाने को मजबूर हैं लोग कंसुरी के अनुज कुमार ने बताया कि हम 17 मई से अपने साथियों के साथ क्वॉरेंटाइन किए गए हैं 20 दिन से अधिक समय हो जाने के बाद भी हमें घर वापस नहीं भेजा जा रहा है डॉक्टर से पूछने पर डॉक्टर कह देते हैं कि रिपोर्ट आने के बाद कुछ कहा जा सकता है वहीं जैथरा के भलौल निवासी युवक ने बताया मुझे मुझे 5 दिन से अधिक समय हो गया है मुझे आज तक किसी ने यह नहीं बताया कि मैं कहां पर रुकूं, कोई अगर किसी कमरे में जाता हूं तो वहां पर पहले से पॉजिटिव लोग मौजूद हैं जिस कारण में शौचालय पास बाहर बरामदे में पढ़ा हूं यह कोई सफाई करने ही नहीं आ रहा है, शौचालय में पानी नहीं आ रहा है काफी परेशानी कोई हमारी सुनने वाला नहीं है घर जैसी व्यवस्थाएं होना संभव नहीं है- मुख्य चिकित्साअधिकारी
मुख्य चिकित्सा अधिकारी अजय अग्रवाल ने बताया जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज में बनाए गए एकांतवास की जिम्मेदारी डॉ. डी के भदौरिया को दी गई है जिनके द्वारा सेंटर जा कर एकांत वास भेजे गए लोगों की जांच की जाती है सेंटर पर कुछ लोगों को अधिक समय हो जाने के सबाल पर उन्होंने कहा कि कुछ संदिग्धों की जांच हेतु द्वितीय जांच रिपोर्ट भेजे जाने पर अधिक समय भी लग जाता है। जिस कारण हम संदिग्ध की रिपोर्ट से संतुष्ट न होने के कारण उसे उसके घर वापस नहीं भेज रहे हैं जांच रिपोर्ट आते ही घर भेजने की बात के साथ ही उन्होंने कहा कि हमें सभी एकांतवास में भेजे गए संदिग्धों से उम्मीद है कि वह एकांतवास को अपना घर व मौजूद लोगों को अपना परिवार मानकर रुके न की एक बोझ तो शायद उन्हें तथा हमें किसी को भी कोई परेशानी नहीं होगी। हम अच्छे से व्यवस्थाएं करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं विद्यालय किसी के रोकने के लिए स्थान नहीं होता है जिस कारण वहां घर जैसी व्यवस्थाएं होना संभव नहीं है प्रत्येक दिन सुबह तथा शाम सफाई कर्मी वहां सफाई करने के लिए जाते हैं साथ ही उन्होंने बताया कि जवाहरलाल नेहरू विद्यालय में 100 से अधिक एकांतवास मैं संदिग्ध व्यक्ति मौजूद है सभी के सैंपल जांच हेतु भेजे गये हैं पूर्व में डीएम सुखलाल भारती भी कर चुके है निरीक्षण जिलाधिकारी सुखलाल भारती द्वारा जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज का निरीक्षण किया गया था तथा निरीक्षण के दौरान सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने तथा वहां मौजूद संदिग्धों को n95 मास्क उपलब्ध कराने के निर्देश सीएमओ को दिए गए थे।उन्होंने कहा कि उस समय हमें लोगों ने ऐसी समस्याएं नहीं बताई थी वायरल वीडियो में बताई गयी समस्याओं का हम शीघ्र ही निस्तारण कर कार्यवाही करेंगे।एकांतवास बांट रहे लोगों को कोई परेशानी नहीं होने देंगे |

Back to top button