एटा – थाना सकरौली पुलिस को मिली सफलता, सगा चाचा ही निकला दो मासूमों का कातिल, मासूमों की हत्या के बाद सगे भाई की हत्या के प्रयास में असफल रहने पर खुला साइकोपेथिक किलर का राज, पुलिस ने घटना में प्रयुक्त बाॅक सहित गिरफ्तार कर भेजा जेल।

एटा -थाना सकरौली पुलिस द्वारा थाना सकरौली क्षेत्र के ग्राम धर्मपुर में हुई दो मासूमों की हत्या का सफल अनावरण कर सगे भाई को मारने के प्रयास की घटना में फरार चल रहे साईकोपेथिक किलर राधेश्याम को घटना में प्रयुक्त लोहे के बाॅक सहित गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गयी है दिनांक 12.06.2020 को वादी श्री विश्वनाथ पुत्र मंगलसिंह निवासी ग्राम धर्मपुर थाना सकरौली एटा द्वारा थाना सकरौली पर इस आशय की सूचना दी गयी कि दिनांक 11.06.2020 की रात्रि में समय करीब 11 बजे वादी के भाई राधेश्याम ने वादी के ऊपर जान से मारने की नीयत से हमला कर दिया जिसमें वादी बाल-बाल बच गया, शोर सुनकर घर के और लोगों के आने पर राधेश्याम जान से मारने की धमकी देते हुये भाग गया। इस सूचना पर थाना सकरौली पर मुअसं- 92/2020 धारा 307, 506 भादंवि बनाम राधेश्याम पंजीकृत किया गया वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एटा द्वारा उक्त घटना को गम्भीरता से लेते हुए घटना के फरार आरोपी की गिरफ्तारी हेतु थानाध्यक्ष सकरौली कृतपाल सिंह को निर्देशित किया गया। दिनांक 13.06.2020 को थाना सकरौली पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर उक्त घटना में फरार चल रहे अभियुक्त राधेश्याम को कर्थनी मोड़ के पास से समय करीब 05.00 बजे घटना में प्रयुक्त एक लोहे के बाॅक सहित गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में अभियुक्त ने बताया कि अपने भाई की हत्या के प्रयास की घटना से पूर्व उसी ने अपने सगे भतीजों की भी हत्या की थी। हत्या करने के बाद उसको आनन्द की अनुभूति होती है। उसका उद्देश्य घर के पाॅच लोगों को मारकर प्रापर्टी हथियाने का था। पूछताछ के बाद ज्ञात हुआ कि अभियुक्त साइकोपेथिक है, जिसके चलते उसने दो मासूम बच्चों का सीरियल मर्डर किया। अभियुक्त के विरुद्ध थाना सकरौली पर मुअसं- 67/2020 धारा 302 भादवि, मुअंस-91/2020 धारा 302 भादवि, मुअसं- 92/2020 धारा 307, 506 भादवि व मुअसं- 94/2020 धारा 4/25/27 आम्र्स एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर थानास्तर से आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। पुलिस द्वारा घटना के सफल अनावरण करने पर मृतकों के परिजनों, पूर्व में नामित आरोपियों तथा आमजन का पुलिस के प्रति निश्चित ही विश्वास बढ़ा है, साथ ही लोगों द्वारा सकरौली पुलिस की भूरि-भूरि प्रशंसा की जा रही है।

ब्यूरो अहिबरन सिंह एटा

Back to top button