एटा में बिन बारातियों की चढी बारात

एटा जिला- मुख्यालय पर आज एटा के प्रमुख लकड़ी व्यवसाय सेठ चंद्र दुबे के नाती शाहिल दुबे का विवाह आज कोविड-19 के चलते सरकार द्धारा जारी नियमों के अनुसार सम्पन्न किया गया।
सड़क पर बारात के स्थान पर नजल आयी सिर्फ दूल्हे की बग्गी और दो चार बच्चे.बीती रात एटा की शिकोहाबाद रोड निवासी साहिल दुबे की बारात सड़क पर बिना बैंड बाजों बारातियों तथा नाच कूद के जाती नजर आई।तो लोग खड़े होकर बारात को देखने लगे जिसमें सिर्फ दूल्हा तथा दो चार बच्चे ही बग्गी में बैठे नजर आ रहे थे और बग्गी एटा के आगरा मार्ग स्थित होटल देव रेस्टोरेंट पर जा पहुंची है। जहां पहले से लड़की पक्ष तथा लड़का पक्ष दोनों बच्चों के लोग मौजूद थे।शादी में दोनों पक्ष के लगभग 35 लोग शामिल होने की बात बताई गई।बारात में शामिल होने आए एटा के शिकोहाबाद रोड निवासी आदर्श मिश्रा डैनी व दूल्हे के चाचा ने बताया कि आज शादी में सोशल डिस्टेंस तथा मास्क लगाने का पूरा ध्यान रखा गया है।शादी में हुआ नियमो का पालन शादी में बरात चढते समय बैंड बाजों तथा बारातियों को को शामिल नहीं किया गया।जिससे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन न हो साथ ही उन्होंने बताया की शादी में लड़की पक्ष पड़ोसी जनपद कासगंज का रहने वाला है तथा वह भी एटा के होटल देव रेस्टोरेंट्स मैं आ गया है पूरी शादी में लगभग 35 लोग दोनों पक्ष के मौजूद हैं।नियमानुसार हमें दोनों पक्ष से 100 लोगों के शादी में शामिल होने की परमिशन दी गई थी।किंतु हमने मात्र 35 लोग ही बुलाए हैं बारात चढ़ने के बाद होटल ने शांतिपूर्ण ढंग से सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए शादी संपन्न हुईशहर के लकड़ी व्यवसायी के पुत्र की बरात चढ़ने की चर्चा पूरे शहर में है जिसमें बिना बारातियों के बारात को प्रशासन तथा शहर के नागरिकों द्धारा सराहा जा रहा है

ब्यूरो अहिबरन सिंह एटा

Back to top button