डीएम, सीडीओ ने विकासखण्ड अवागढ़ क्षेत्र में मनरेगा कार्याें का लिया जायजा

प्रत्येक मनरेगा मजदूर को कम से कम 100 दिन का रोजगार अवश्य मिलना चाहिए

मनरेगा के तहत होने वाले कार्याें में प्रवासी श्रमिकों, महिलाओं को प्राथमिकता पर काम दिलाएं

एटा। डीएम सुखलाल भारती एवं मुख्य विकास अधिकारी मदन वर्मा ने बुधवार को विकासखण्ड क्षेत्र अवागढ़ की ग्राम पंचायतों में चल रहे तालाब जीर्णोद्धार, चकमार्ग आदि का मौके पर पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। डीएम ने इस दौरान सर्वप्रथम इसौली ग्राम पंचायत में तालाब पर चल रहे जीर्णोद्धार कार्य को चैक करने के दौरान कार्य कर रहे मजदूरों को निर्देश दिए कि सभी मजदूर मास्क लगाकर काम करें, सामाजिक दूरी का पालन अवश्य किया जाए। तालाब जीर्णोद्धार कार्य 2.5 लाख की लागत से 49 मजदूरों द्वारा किया जा रहा था। मौजूद कुछ ग्रामीणों द्वारा शिकायत की गई कि तालाब पर अतिक्रमण है, जिस पर डीएम ने एसडीएम को तालाब की पैमाईश कराने एवं खण्ड विकास अधिकारी को दो तालाबों का जीर्णोद्धार कराने के निर्देश दिए डीएम, सीडीओ ने अवागढ़ ब्लाक के ग्राम नगला इमलिया में 1.80 लाख की लागत से 900 मीटर चकमार्ग एवं बरा भौड़ेला ग्राम में 600 मीटर चकमार्ग का भी औचक निरीक्षण किया। चकमार्ग पर कुछ अतिक्रमण मिलने पर डीएम ने एसडीएम जलेसर को चकरोड की पैमाईश कराने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि मनरेगा के तहत जीर्णोद्धार एवं निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद दोनों किनारे वृक्षारोपण भी किया जाए। मनरेगा के तहत होने वाले कार्याें में महिलाआंे एवं प्रवासी श्रमिकोें को प्राथमिकता के आधार पर काम मिलना चाहिए। खण्ड विकास अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि मनरेगा के तहत प्रत्येक मजदूर को कम से कम 100 दिन का काम अवश्य मिलना चाहिए इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी सोमनाथ मौर्य, एडीओ पंचायत, पंचायत सचिव, रोजगार सेवक, ग्राम प्रधान आदि मौजूद रहे।

Back to top button