नागों के नाग, नागराज ने पकड़ा दो नाग,ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

जनपद अम्बेडकर -नगर के आलापुर तहसील अंतर्गत ग्राम सभा आमादरवेश पुर के निवासी भोले बाबा के पुजारी रमेश कुमार विश्वकर्मा उर्फ नागराज ने आज चक तारा ग्राम सभा में मंड़ई में घुसे दो नागों को पकड़कर उनको एक जंगल में छोड़ दिया । परिवार और गांव के लोगों ने राहत की सांस ली । पूरा परिवार बहुत भयभीत था। लेकिन नागराज पहुंचकर वहां दोनों नागों को पकड़कर बोरी में भरकर जंगल में छोड़ दिया ।पूछे जाने पर नागराज ने बताया कि हमें नागों को पकड़ने में तनिक भी भय और डर नहीं लगता । हम यह काम कम से कम 10 वर्ष से कर रहे हैं और कम से कम दसो बार सांप काटे होंगे । लेकिन भोले बाबा की कृपा और मेरे अंदर प्रतिरोधक क्षमता की वजह से मैं नागों के जहर को आसानी से सहन कर लेता हूं । मेरे अंदर नागों के जहर से लड़ने की क्षमता है। यह पूछे जाने पर कि सांप को पकड़ने पर हाथ में खुजलाहट या नशा नहीं होता है तो उन्होंने बताया कि सांप जब हाथ में लपेट लेता है तो थोड़ी देर तक चुनचुनाहट होती है। लेकिन बाद में अपने आप कुछ देर में ठीक हो जाता है । उन्होंने बताया कि जड़ी-बूटी खाकर पकड़ना या कोई हाथ में दवा लगाकर के पकड़ना यह सब गलत बात होती है। हम यह सब नहीं करते हैं । तत्काल सांप हमें दिखाई देता है तो हम उसको भोले बाबा की कृपा से पकड़ लेते हैं । हम और सांप भोले बाबा के सिपाही हैं और हम उनके सेवक हैं। सिपाही और सांप दोनों भोले बाबा के ही हैं इसलिए पकड़ने में हमें डर नहीं लगता ।

Back to top button