सूर्य ग्रहण के चलते बंद रहे मंदिरों के कपाट

नैमिषारण्य सीतापुर
संवाददाता कृष्ण मुरारी

आषाढ़ अमावस्या सूर्य ग्रहण पड़ने पर शनिवार रात्रि 9:00 बजे से नैमिषारण्य चक्रतीर्थ ललिता देवी मंदिर हनुमानगढ़ी व्यास गद्दी सूत गद्दी महामृत्युंजय पीठ आदि मंदिर सूतक काल से मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए थे इसके पश्चात अमावस्या रविवार को सूर्य ग्रहण पड़ने पर मंदिर के कपाट दोपहर 3:00 बजे खोले गए धुलाई सफाई की व्यवस्था की गई उसके पश्चात पुजारी ने ललिता मैया की आरती की नैमिष के समस्त मंदिरों में पूजा अर्चना की गई अमावस्या के चलते जहां पर लाखों श्रद्धालुओं का ताता लगता था चौदस से ही प्रारंभ हो जाता था मेला वही महामारी के चलते चौथी अमावस्या में नहीं दिखे श्रद्धालु प्रशासन द्वारा नैमिषारण्य में समस्त मंदिरों में चुस्त व्यस्त व्यवस्था की गयी नैमिषारण्य में चप्पे-चप्पे पर पीएसी पुलिस बल तैनात रहा जिससे श्रद्धालु गण नैमिषारण्य में ना आ सके जिससे महामारी ना पहले और नैमिषारण्य के वासी एवं आने वाले श्रद्धालु सुरक्षित रहे महामारी के चलते श्रद्धालु गण तीर्थो में स्नान ना करके अपने घर में स्नान किया दान दक्षिणा अपने घर में कन्याओं को दे कर के आशीर्वाद प्राप्त किया वही नैमिष चौकी इंचार्ज रोहित दुबे ने नैमिषारण्य में समस्त मंदिरों का भ्रमण करते रहे और प्रशासन द्वारा जबरदस्त व्यवस्था की गई

Back to top button