राधिका गैंगरेप में पुलिस एक्शन में, आरोपियों के चार परिजन गिरफ्तार भीम आर्मी से एहतियातन आलापुर तहसील पीएसी छावनी में तब्दील

बांकेलाल निषाद

जनपद अम्बेडकर नगर -की बहुचर्चित राधिका गैंगरेप कांड में जहांगीरगंज थाने की पुलिस एक्शन में आ गयी है। अन्य आरोपी तो फरार हैं लेकिन आरोपियों के परिजनों के चार लोगों की गिरफ्तारी हो गयी है। इस मुकदमे में अभी तक एफआईआर नं 188/20 धारा 376, 506 आईपीसी, एससी एसटी एक्ट ,3/4 पास्को एक्ट, में दो नामजद पूजा और नाटे की गिरफ्तारी हुई है और यही दोनों केवल नामजद थे । भीम आर्मी के धरना प्रदर्शन के बाद पुलिस से भिड़ंत और मामले का हाईलाइट होना आदि के बाद क्षेत्राधिकारी जगदीश लाल टम्टा इस मुकदमे की विवेचना कर रहे हैं । उन्होंने बताया कि गैंगरेप पीड़िता राधिका का 164 का बयान लिया जाएगा और 164 के बयान के आधार पर ही धाराओं को बढ़ाया जाएगा। मौके पर अन्य आरोपी फरार हैं उनके चार परिजनों को जहांगीरगंज पुलिस ने उठा ली है जिससे जल्द से जल्द उनकी गिरफ्तारी हो सके । भीम आर्मी और पुलिस की भिड़ंत के बाद एहतियातन आलापुर तहसील भारी पुलिस और पीएसी बल की छावनी में तब्दील हो गयी है और गैंगरेप पीड़िता के गांव में भी एक कंपनी पीएसी बल तैनात कर दी गयी है जिससे कहीं भी किसी भी प्रकार का अशांति ना हो। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया है कि किसी भी कीमत पर गैंगरेप पीड़िता के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा उनके खिलाफ जल्द से जल्द सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी । गौरतलब है कि गैंगरेप पीड़िता के परिजनों एवं भीम आर्मी का आरोप है कि जहांगीरगंज पुलिस गैंगरेप को रेप में बदला है और पांच आरोपियों का नाम निकाल दिया है मात्र दो ही आरोपी को नामजद किया गया है । इसी बात पर इतना बवाल हुआ है।

Back to top button