वाह रे अम्बेडकर नगर पुलिस आम जनता के आक्रोश को दबाकर जिले में भीम आर्मी की नीव रख दी

अजय कुमार तिवारी

अम्बेडकर नगर- अभी हाल ही में इंडिया टाइम्स न्यूज के द्वारा कहा गया था कि जनता के साथ न्याय नही हो रहा है। और पुरे प्रदेश मे न्याय का सौदा हो रहा है और न्याय इसी तरह खरीदा और बेचा गया तो एक दिन जनता बगावत करने पर मजबूर होगी !यही वाकया का दृष्य राधिका गैंग रेपकांड थाना जहाँगीर गंज मे देखने को मिला ! राधिका के बलात्कारियो को जब जहाँगीर गंज पुलिस बचाने लगी और गैंग रेप को रेप मे बदलने की कोशिश की गयी तब जनता का आक्रोश सातवे आसमान पर पहुँच गया और जब न्याय पाने के लिये जनता तहसील पर पहुँची!तो जनता के आन्दोलन को पुलिस ने लाठी डंडे से दबाने की कोशिश की लेकिन हजारों की आक्रोशित भीड़ के आगे एक समय ऐसा आ गया पुलिस के जवानों को भागना पडा तब जाकर पीएसी बुलानी पडी!और पुलिस ने अपनी कमी छिपाने के लिए इसे भीम आर्मी का नाम दे डाला! सवाल यह उठता है कि जनता की आक्रोशित भीड के पास किसी पार्टी का झंडा नहीं था तो आक्रोशित जनता को भीम आर्मी का नाम कैसे दिया गया अम्बेडकर नगर मे अभी भीम आर्मी का जन्म भी नहीं हुआ है लेकिन अम्बेडकर नगर पुलिस ने अपनी कमी छिपाने के लिए भीम आर्मी का जन्म अम्बेडकर नगर मे कर दिया दूसरी तरफ जब योगी सरकार ने जौनपुर कांड मे दलितों पर जुर्म करने वालो पर रासूका तामील करने का आदेश दिया तो जहाँगीर गंज पुलिस ने आठ हवसियो के खिलाफ गैंग रेप और रासूका लगाने की जगह रेप मे धारा क्यो दर्ज की क्या योगी सरकार अपराधी को भी हिन्दू-मुस्लिम के नजरिए से देखती है ऐसा किसी स्वच्छ iसरकार मे नहीं हो सकता है अगर प्रशासन और जहाँगीर गंज थाने के लोग न्याय के प्रति संवेदनशील होते तो तहसील पर आम जनता का जमावड़ा नहीं होता लेकिन हो सकता है कि जिला प्रशासन पर वर्तमान सरकार का दबाव हो कि इस आक्रोशित भीड को भीम आर्मी का नाम दे दिया जाय जिससे जिले मे बसपा को कमजोर किया जा सके! भ्रष्टाचार के लिए अन्ना हजारे जैसे समाज सेवियों का प्रयास पूरी तरह फेल किया जा रहा है अगर न्याय सही तरीके से होता तो जनता को आक्रोशित हो बगावत करने की नौबत ही न आती अब पुलिस आक्रोशित भीड पर मुकदमा दर्ज कर अपने कुकर्म छिपाने के लिए जनता की आवाज को दबाना चाहती है अगर सरकार वास्तव मे न्याय और भ्रष्टाचार के प्रति गंभीर है तो इन बडे अधिकारीयो को सीबीआई जैसी किसी बडे एजेंसी से जाँच करवा कर इन अधिकारियों को जिले मे तैनाती दी जाय और जिले मे तैनात वर्तमान अधिकारीयो की सीबीआई जांच तुरन्त करवाई जाय दूध का दूध पानी का पानी साफ हो जायेगा!और अगर इतनी चेतावनी के बाद मे भी सरकार ने सरकारी लूट और भ्रष्टाचार रोकने पर काम नहीं किया आक्रोशित जनता को फर्जी मुकदमे मे फंसाया गया तो अभी तो दो सीट अम्बेडकर नगर मे भाजपा ने पाया भी है। लेकिन अगले चुनाव मे जनता भाजपा का खाता भी नहीं खुलने देगी वैसे भी जनता के मुँह मे एक नारा गूँजने लगा है *मोदी तुझसे बैर नहीं योगी तेरी खैर नहीं*

Back to top button