ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार में जनता का न्याय ,दो शूटर मौत के घाट अंबेडकरनगर में जनता ने बजाया न्याय का डंका पिटने से दो शूटर की मौत

बांकेलाल निषाद

अंबेडकर नगर -डॉ राम मनोहर लोहिया की धरती जनपद अंबेडकर नगर में अन्याय , अत्याचार, भ्रष्टाचार के विरुद्ध धीरे धीरे अंबेडकर नगर की जनता जागरूक होकर खुद न्याय करने पर और न्याय मांगने पर उतारू हो गई है । जहां पूरे प्रदेश में रामराज्य में भ्रष्टाचार, अत्याचार, अन्याय अपने चरम पर है वहीं पर अंबेडकरनगर भी इससे अछूता नहीं है । जहां एक तरफ अभी हाल ही में बहुचर्चित रामपुर सराय की राधिका गैंगरेप पीड़िता को जैसे ही जहांगीरगंज की पुलिस गैंगरेप को रेप में बदलने की कोशिश की तैसे ही अंबेडकर नगर की जनता आक्रोशित होकर तहसील आलापुर के सामने हजारों की संख्या में इस गैंगरेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन करने लगी । पुलिस के लाठीचार्ज के बाद जनता उग्र होकर पुलिस को दौड़ा-दौड़ा कर भगाने का काम किया । यहां तक कि दो-तीन घंटे जनता उग्र होकर राधिका दलित बेटी को न्याय दिलाने के लिए उपद्रव करती रही। तत्काल डीएम और एसपी भारी पुलिस बल के साथ आलापुर तहसील परिसर पहुंचे और जनता के आक्रोश को देखकर राधिका गैंगरेप पीड़िता के गांव में भी पीएसी लगा दिये और आलापुर तहसील परिसर भारी पीएसी बल में तब्दील हो गया । इस गैंगरेप पीड़िता के लिए न्याय मांग रहे जनता के आक्रोश को देखकर इस जनपद के नेता भी औपचारिक रूप में गैंगरेप पीड़िता के घर और हॉस्पिटल देखने के लिए जाने लगे। नहीं तो इसके पहले वहीं पर भाजपा की विधायिका अनीता कमल के नाक के नीचे यह खेल होता रहा और विधायिका मूकदर्शक बनकर कुंभकर्णी नींद में सोती रहीं और जनपद के कद्दावर नेता मूकदर्शक बनकर हाथ पर हाथ धरके बैठे रहे और गैंगरेप को रेप में बदल दिया गया । इस न्याय में जनता आगे रही नेता पीछे रहे । नेताओं को लगा कि अगर हम अब गैंगरेप पीड़िता के लिए आना-जाना शुरू नहीं करेंगे तो जनता से पुनः 5 साल बाद वोट की भीख नहीं मांगने लायक रहेंगे । वे भी औपचारिकता बस गैंगरेप पीड़िता के घर और हॉस्पिटल आने जानें लगे । वहीं दूसरी तरफ इब्राहिमपुर थाने के अंतर्गत उतरेठू ग्राम सभा में कीटनाशक दूकान पर बैठे पूर्व प्रधान धर्मेंद्र वर्मा की चार शूटरों द्वारा दिनदहाड़े गोलियों की तड़ातड़ाहट से हत्या के बाद शूटर भागने का प्रयास किये । यहां भी जनता ने उग्र होकर चारों शूटरों को अपनी जान की परवाह न करते हुए घेर लिया और तत्काल 2 को पीटपीटकर मार डाला और एक को गंभीर रूप से घायल कर दिया। जिसमें एक अहिरौली थाना अंतर्गत खेवार गांव का डीएम उर्फ रितेश सिंह और दूसरा बदमाश मोहम्मद मोहिसिन सुल्तानपुर जिले के कादीपुर का रहने वाला है और तीसरा बदमाश गंभीर रूप से घायल ट्रामा सेंटर रेफर अभिनेश उर्फ विक्रम सिंह अयोध्या जिले का गोशाईगंज थानांतर्गत पुरैनी गांव का रहने वाला है। यहां भी जनता ने अंबेडकर नगर पुलिस के न्याय का और न ही उनके आने का इंतजार किया तत्काल वहीं पर इन शूटरों को पीट-पीटकर मार डाला । अंबेडकर नगर जागरूक जनता का यह न्याय भले ही कुछ अटपटा लगता हो लेकिन मृतक प्रधान के परिजनों को तत्काल शुकून तो दे ही दे दिया और इन आतताई दुर्दांत शूटरों के गैंग को यह नसीहत भी दे दी कि दिनदहाड़े जनता के बीच गोलियों के तड़तड़ाहट से किसी की जान लेने में तुम्हारी भी खैर नहीं । तुम एक मारोगे तो जनता तुम्हारे जैसे कितनों को मारेगी यह समय स्थिति और परिस्थिति बताएगी। गौरतलब है कि पूरे प्रदेश में राम राज्य में न्याय का सौदा हो रहा है । प्रदेश जिसकी लाठी उसकी भैंस के सहारे चल रहा है। न्याय में हो रही सौदेबाजी को देख जनता खुद न्याय करने के लिए कमर कस ली है । अब न्याय की कुर्सी पर बैठे लोगों को धीरे-धीरे जनता यह सबक सिखा देगी कि तुम न्याय की सौदा करो हम अन्याय ,अन्यायी और न्याय की कुर्सी पर बैठे लोगों को ही सबक सिखाने पर उतारू हो गए हैं ।

Back to top button