जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शनिवार को कोविड 19 प्रोटोकॉल के अनुपालन के  दृष्टिगत श्रावण मास में कावड़ यात्राओं को आयोजित न किये जाने के संबंध में महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न

रिपोर्टर धीरज शुक्ला

सीतापुर- बैठक में जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आये धर्मगुरुओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। सभी धर्म गुरुओं ने कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का शत प्रतिशत पालन किये जाने का आश्वासन दिया तथा कहा कि उनके स्तर से सभी से अपील की जाएगी कि कोई कावड़ यात्रा न निकाली जाए। धर्मगुरुओं ने कहा कि कावड़ यात्रा को उनके प्रारंभ होने के स्थान से ही जागरूकता के माध्यम से रोका जाए जिससे कांवड़ यात्रा प्रारंभ ही न हो। इसके लिये गांवों में भी व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ मंदिरों व धार्मिक स्थलों से भी लाउडस्पीकर के माध्यम से जागरूक किया जाये। जनपद में कांवड़ यात्रा हेतु जल लिये जाने के स्थलों यथा राजघाट, देवदेवश्वर, चहलारी घाट, नरहरपुर, रतनगंज आदि स्थलों पर पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती किये जाने का अनुरोध भी धर्मगरूओं द्वारा किया गया।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी श्री तिवारी ने कहा कि कोरोना वायरस की भयावहता और इसके प्रसार को देखते हुए यह आवश्यक है कि हम सभी अपने घरों में ही विधि विधान से पूजा अर्चना करें। एक जगह भीड़ के रूप में एकत्रित न हों। उन्होंने कहा कि कावड़ यात्रा में भीड़ अधिक होने की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग संभव नहीं हो पाती है इसलिए कावड़ यात्रा न निकाली जाए। साथ ही मंदिरों में भीड़ एकत्रित न हो यह भी सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने धर्मगुरूओं का आहवान करते हुये कहा कि समाज को नियंत्रित करने में धर्म का विशेष योगदान रहा है इसलिये हम सब की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। लोक कल्याण के लिये हमें अनुशासित रहना परम आवश्यक है और हम अनुशासित तभी रह पायेंगे जब हम घरों में रहेंगे। उन्होंने कहा कि जनपद के लोगों ने कठिन समय में सदैव प्रशासन का सहयोग किया है तथा लाॅकडाउन के दौरान भी निर्देशों का शतप्रतिशत पालन करके अपने आप को बीमारी से बचाया है। जिससे जनपद में कोरोना संक्रमितों की संख्या नियंत्रित है। उन्होंने अपील की कि देवालयों एवं धार्मिक स्थलों से इस संबंध में नियमित रूप से अपील प्रसारित की जाये कि कोई कांवड़ यात्रा आयोजित नही की जायेगी।

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक आर0पी0 सिंह ने कहा कि जीवन सर्वोपरि है और जीवन की रक्षा के लिये ही हम सभी प्रयासरत हैं। कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुये सरकार द्वारा पूर्व में ही इस संबंध में सूचना प्रसारित की जा चुकी है तथा नियमित रूप से अपील भी की जा रही है कि कांवड़ यात्रा न निकाली जाये। कई सम्मानित धर्मगुरूओं, प्रबुद्धजनों द्वारा भी नियमित रूप से इस संबंध में अपील की जा रही है। उन्होंने कहा कि हम सभी की जिम्मेदारी है कि लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करें जिससे कांवड़ यात्रा प्रारम्भ ही न हों। उन्होंने कहा कि सभी स्थलों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात रहेगा तथा सभी उपजिलाधिकारी एवं क्षेत्राधिकारी धार्मिक स्थलों के प्रतिनिधियों के सम्पर्क में रहेंगे एवं उन्हें सभी प्रकार से अपेक्षित सहयोग प्रदान करेंगे।

बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी विनय कुमार पाठक, अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी डा0 राजीव दीक्षित, नगर मजिस्ट्रेट पूजा मिश्रा, सभी उपजिलाधिकारी, सभी पुलिस क्षेत्राधिकारी तथा दुर्गश कुमार, आचार्य मुन्ना लाल, गौरव पाण्डेय, आशीष शास्त्री, राजनारायण पाण्डेय सहित जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आये धर्मगुरू एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Back to top button