नैमिषारण्य भूतनाथ मंदिर मैं सावन के प्रथम सोमवार को मंदिरों पर रहा सन्नाटा

रिपोर्टर कृष्ण मुरारी शर्मा

नैमिषारण्य अष्टम बैकुंठ की
पावन धरा पर सावन मास का आज प्रथम दिन है नैमिषारण्य में सावन के प्रथम दिन से ही बाबा भूतनाथ में भक्तों का तांता लगा रहता था लाइने लगी रहती थी परंतु कोविड-19 की वजह से नैमिषारण्य के सभी मंदिरों में शांति का माहौल छाया हुआ है नैमिष निवासी डिटेंशन का पालन करते हुए नैमिषारण्य में ही प्रसिद्ध सिद्धेश्वर के दर्शन किए और देवदेवेश्वर में भी जहां भक्तों का तांता लगा रहता था वहां पर भी डिटेंशन के साथ कुछ यात्री युवाओं ने एक एक दो दो करके दर्शन प्राप्त किए और शिवजी पर जल चढ़ाया और जल चढ़ाकर शिव से करो ना जैसी महामारी को नष्ट करने के लिए उनसे बार-बार विनती की और इस महामारी को खत्म करने का बार-बार अनुग्रह किया नैमिषारण्य सावन मास मेले के लिए विगत दिनों में जिला अधिकारी अखिलेश तिवारी जी ने और पुलिस अधीक्षक जी ने सर्वदलीय बैठक कर नैमिष के सभी धर्म के अनुयायियों को मीटिंग में बुलाकर निवेदन किया था कि अबकी बार नैमिषारण्य में कांवरिया का जलभराव नहीं होगा सभी श्रद्धालुओं को घर बैठकर ही पूजा-अर्चना करनी होगी मंदिर में किसी को कांवरिया के रूप में नहीं आना है इसमें हमारी आप लोग उचित से उचित व्यवस्था एवं साथ देने का कार्य करें जिसके कारण ही आज प्रथम दिन से ही नैमिष में प्रशासन की उच्च व्यवस्था और हर 30 मिनट के बाद नैमिष इंचार्ज राहुल दुबे और उनके साथी पूरे नैमिष का जायजा लेते रहते हैं

Back to top button