हकीम हत्याकांड के दोनों अभियुक्तों को 36 घंटे के अंदर पुलिस ने दबोचा

थाना हंसवर, टांडा ,अलीगंज, और आलापुर के संयुक्त थानाध्यक्षों की पुलिस टीम द्वारा मिली यह सफलता ।

बांकेलाल निषाद

जनपद अंबेडकर नगर -के हंसवर थानांतर्गत हंसवर बाजार में ही विगत 3 दिन पहले सुबह लगभग 8:00 बजे डॉक्टर हबीबुर्रहमान उर्फ पहाड़ी पुत्र नजरें हुसैन ने अपनी दुकान में झाड़ू लगा रहे थे इतने में नकाबपोश दो युवक उनको जान से मारने की नियत से दौड़ा ली । डॉक्टर को कहीं पनाह नहीं मिला तो वे भागकर दूसरे के घर में घुस गये लेकिन इसके बावजूद भी दोनो नकाबपोश बदमाशों ने गला रेतकर डॉक्टर की हत्या कर फरार हो लिये । तत्काल जनपद के पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी एवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र के दिशा निर्देशन में चारों थानों के थानाध्यक्षों की पुलिस टीम ने दोनों बदमाशों की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये जिसको कार्यरूप देने के लिए चारों थानों के संयुक्त थानाध्यक्षों ने पूरी तन्मयता के साथ दोनों नकाबपोश बदमाशों को गिरफ्त में लेने के लिए तत्पर हो गये । और अंततः 36 घंटे के अंदर सफलता भी प्राप्त हो गयी ।दिनांक 25 /7/ 2020 को रात समय लगभग 11:45 बजे थाना हंसवर पुलिस टीम द्वारा बसखारी बॉर्डर पर चेकिंग के दौरान दो बाइक सवार बसखारी की तरफ से आ रहे थे पुलिस टीम को देखकर नकाबपोश बदमाश भागने लगे । तत्काल बॉर्डर से लगी अन्य थानों को सूचित किया गया तो सिमरा नसीरपुर के पास पुलिस टीम द्वारा चारों तरफ से घेरने की कोशिश की गयी तो अभियुक्तों ने पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी जिससे पुलिस टीम द्वारा आत्मरक्षा में जवाबी फायरिंग के दौरान एक अभियुक्त के पैर में गोली लगी तथा दूसरे के हाथ और पैर में गोली लगी पुलिस टीम के कांस्टेबल सुधीर सिंह थाना हंसवर के पैर में भी गोली लगी । घायल सिपाही व बदमाशों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। अभियुक्त शादाब पुत्र अब्दुल रऊफ व मोहम्मद मसरूफ पुत्र अब्दुल रज्जाक निवासीगण हंसवर बाजार थाना हंसवर जनपद अंबेडकर नगर से पूछताछ के दौरान पता चला कि ये हत्याकांड के मुख्य आरोपी हैं । थाना स्थानीय के खिलाफ मुकदमा अपराध संख्या 127/20 धारा 302 120 बी भादवि व मुअसं 129/20 धारा 392, 411 भादवि मुकदमा पंजीकृत किया गया है। थाना स्थानीय द्वारा दोनों अभियुक्तों के खिलाफ अग्रिम कार्यवाही की जा रही है ।उपरोक्त अभियुक्तों के पास से एक तमंचा 315 बोर, एक जिंदा कारतूस 315 बोर ,दो खोखा कारतूस 315 बोर, एक पिस्टल 32 बोर खोखा व जिंदा कारतूस भी 32 बोर, लूट की एक मोटरसाइकिल up50 an 8041 व घटना में प्रयुक्त एक बांका आला कत्ल भी बरामद हुआ । इन अभियुक्तों को गिरफ्तारकर्ता टीम में थानाध्यक्ष प्रदीप सिंह हंसवर, कांस्टेबल सुधीर सिंह ,विवेकानंद यादव, अजय यादव, अरविंद यादव, व आलापुर प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार सिंह, कांस्टेबल विकास कुमार थाना अलापुर ,कांस्टेबल सोनू कुमार, कांस्टेबल योगेश धामा तथा टांडा के प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार पांडे कुशल पाल सिंह टांडा कांस्टेबल मिथिलेश यादव नंद कुमार राय व प्रभारी निरीक्षक रामचंद्र सरोज थाना अलीगंज व कांस्टेबल रविंद्र रविंद्र प्रताप यादव व रविंद्र चौहान थाना अलीगंज । गौरतलब है कि डॉक्टर की हत्या उनके लड़के द्वारा एक लड़की से प्रेम प्रसंग के चलते हुई थी। उनका लड़का बगल के ही किसी लड़की को लेकर फरार हो गया था जिस के संदर्भ में यह हत्या हुई थी ।

Back to top button