हिंदू धर्म में ही रहेंगे आसाराम परिवार धर्मांतरण का प्लान बदला

 

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

 

जनपद अंबेडकरनगर -के आलापुर तहसील व थानांतर्गत नीवा ग्रामसभा के आसाराम प्रजापति का कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म कबूल करने का मामला प्रकाश में आया जिसके संदर्भ में तत्काल हिंदू संगठनों में हिंदू महासंघ व उसके नात रिश्तेदार सभी लोग उसके ऊपर हिंदू धर्म छोड़ने का कारण जानना चाहा तथा हिंदू धर्म में ही बने रहने के लिए दबाव बनाया । तत्काल गोरखपुर मठ से हिंदू महासंघ के जिला अध्यक्ष राम सिंहार गौतम के पास फोन आया । आनन-फानन में रिश्तेदारों समेत सभी हिंदू संगठन के लोगों ने आसाराम परिवार के ऊपर दबाव बनाना चालू किया । धीरे धीरे मामला थाना अध्यक्ष बृजेश कुमार सिंह थाना आलापुर तक पहुंच गया ।तत्काल आसाराम प्रजापति को आलापुर थाने पर बुलाया गया । हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष रामसिंहार गौतम भी मौके पर थाने पर पहुंचे और आसाराम प्रजापति के तमाम रिश्तेदार भी वहां पहुंचे । आसाराम को थाना आलापुर के दरोगा ओपी यादव ने हिंदू धर्म के विशेषताओं के बारे में विस्तार से आसाराम से चर्चा किया । बहुत समझाने बुझाने के बाद आसाराम परिवार फिलहाल अपना प्लान हिंदू धर्म में ही रहने के लिए तैयार हो चुका है । आसाराम से पूछने पर उसने बताया कि हमको आलापुर थाने के ओपी यादव दरोगा ने बहुत बढ़िया से हिंदू धर्म के विशेषताओं के बारे में समझाया और हमें उनकी बात बहुत अच्छी लगी और हमने फिलहाल हिंदू धर्म में ही पूरी परिवार सहित जीवन यापन करने के लिए प्लान बना लिया है ।इस्लाम धर्म में हम नहीं जाएंगे ।उससे पूछे जाने पर कि इस्लाम धर्म के प्रति आपकी रूचि कैसे हुई तो उसने बताया कि नेट से उसे इस्लाम धर्म के प्रति रुचि पैदा हुई ।उसकी विशेषताओं के बारे में नेट के माध्यम से ही वह अध्ययन करते करते उसने हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म को स्वीकार करने के लिए फैसला किया था । सूत्रों की माने तो पता चला कि आसाराम प्रजापति के सामने ईदगाह है। उसके चारों तरफ मुस्लिम समाज के लोग का घर है। जिसकी वजह से उन्हीं के ही प्रभाव से ही वह धीरे-धीरे हिंदू धर्म से इस्लाम धर्म ग्रहण करने का प्लान बनाया । उसका एक लड़का दाढ़ी भी रखे रहता है। फिलहाल हिंदू संगठन के लोग और उसके नात रिश्तेदार थाना व तहसील कर्मी सभी लोगों ने हिंदू धर्म में उसके बने रहने के प्लान सुनकर काफी राहत की सांस ली है । आसाराम के परिवार में कुल 10 सदस्य हैं जिसमें उसके चार बेटे और चार बेटियां समेत और वह और उसकी पत्नी शामिल हैं ।

Back to top button