बाढ़ ग्रस्त 1006 परिवार को मिला राशन किट एसडीएम धीरेंद्र श्रीवास्तव व तहसीलदार ज्ञानेंद्र यादव

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

 

जनपद अंबेडकर नगर -के जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र एवं अपर जिलाधिकारी डाक्टर पंकज वर्मा के दिशा निर्देशन में तहसील आलापुर के उप जिलाधिकारी धीरेंद्र श्रीवास्तव, तहसीलदार ज्ञानेंद्र यादव ,नायब तहसीलदार जावेद अंसारी, राजस्व निरीक्षक दान बहादुर सिंह, रविंद्र मौर्य, डीपी सिंह समेत समस्त प्रशासन द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए 1006 राशन किट का वितरण किया गया है जिसमें आटा चावल दाल रिफाइन तेल आलू मिर्चा धनिया आदि 14 आवश्यक खाद्य सामग्री सम्मिलित है । अराजी देवारा और कम्हरिया माझा दो ग्राम सभा में कुल 1006 राशन किट की व्यवस्था की गयी है। कम्हरिया मांझा के लिए 621 राशन किट और आराजी देवारा के लिए 385 राशन किट मुहैया कराया गया है। राशन वितरण के समय राजेसुल्तानपुर के थाना अध्यक्ष राम लखन पटेल अपनी पुलिस पूरी पुलिस टीम के साथ मुस्तैद दिखे । कोटेदार के माध्यम से बाढ़ पीड़ित परिवार में मिट्टी के तेल का भी वितरण किया गया है । श्री विश्वनाथ प्राथमिक विद्यालय बरोही पूरा पांडे के प्रबंधक राजेश्वर यादव के प्रांगण में राशन वितरण के समय समाजसेवी सुरेंद्र वर्मा ब्लॉक प्रमुख धर्मराज यादव जिला पंचायत सदस्य जितेंद्र निषाद भी मौजूद रहे । उप जिलाधिकारी धीरेंद्र श्रीवास्तव और तहसीलदार ज्ञानेंद्र यादव ने बताया कि 1006 परिवार के अतिरिक्त जो भी बचे हुए परिवार हैं उनके लिए भी राशन आदि सामग्री की व्यवस्था की जाएगी और जिस का घर गिर गया है उसके लिए आवास की भी व्यवस्था की जाएगी । पुरा तहसील प्रशासन बाढ़ ग्रस्त पीड़ित परिवारों के लिए सहयोग में लगा हुआ है । नेपाल द्वारा पानी छोड़ने के बाद घाघरा नदी में आई बाढ़ की वजह से घाघरा नदी की मुख्यधारा से लगभग 3 किलोमीटर दूर स्थित यह दोनों ग्रामसभा बिल्कुल डूब चुका है । लोग सुरक्षित स्थान पर प्रशासन के सहयोग से पहुंच चुके हैं । जो भी राशन उनके द्वारा मिला है उसको नाव के माध्यम से अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचा रहे हैं। पशुओं के लिए भूसे की भी व्यवस्था की गयी है । गौरतलब है कि यह दोनों ग्राम सभा हर वर्ष बाढ़ की चपेट में आ जाते हैं जैसे ही बाढ़ की संभावना बढ़ती है तैसे ही जिला प्रशासन और तहसील आलापुर प्रशासन व्यवस्था में लग जाता है । समय रहते उनके बचाव कार्य में और खाद्य सामग्री आदि की व्यवस्था में पूरा प्रशासन मुस्तैद रहता है ।

Back to top button