चाचा चौधरी के नेतृत्व में राष्ट्रीय अपना दल का कार्यकर्ता सम्मेलन संपन्न

श्रृंगवेरपुर में 52 फिट निषाद राज की मूर्ति निर्माण का लिया संकल्प

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

 

जनपद अंबेडकरनगर -के ढोलबजवा बाजार में आयोजक पूर्व लोकसभा प्रत्याशी संत कबीर नगर राजाराम निषाद के नेतृत्व में राष्ट्रीय अपना दल के कार्यकर्ता सम्मेलन में चाचा चौधरी के साथ निषादों ने हुंकार भरी जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं संरक्षक संस्थापक परशुराम निषाद एडवोकेट उर्फ चाचा चौधरी की अध्यक्षता में कार्यकर्ता सम्मेलन में सैकड़ो निषादों ने शिरकत किया । इस सम्मेलन में राष्ट्रीय अपना दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चाचा चौधरी ने बताया कि 2022 में एक विचारधारा के सभी पार्टियां एकत्रित होकर आतताई सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेंगी ।उन्होंने बताया कि इस सरकार में बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, बेकारी ,भुखमरी, गुंडागर्दी आदि चरम पर है जिसको उखाड़ फेंकने के लिए सभी पार्टियों को एकजुट होना अति आवश्यक है । उन्होंने अयोध्या में भगवान राम के बगल में भगवान निषाद राज की मूर्ति स्थापित करने का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि निषादराज भगवान राम के हमेशा अंग संग रहते थे और उनके परम मित्र थे । इसलिए रामलला के बगल उनका फोटो लगना अति आवश्यक है । उन्होंने अपने पार्टी के 21 सूत्री एजेंडे के बारे में विस्तार से कार्यकर्ताओं को समझाया । चाचा चौधरी श्रृंगवेरपुर में भगवान निषाद राज की 52 फुट की मूर्ति के शिलान्यास का जल्द से जल्द निर्माण करने के लिए भी संकल्पित हुए । उन्होंने इस मूर्ति को बनाने के लिए सभी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि इस मूर्ति को बनाने में सभी निषाद समाज के लोग शिरकत करें । उन्होंने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह सरकार ने निषाद समाज के साथ छल किया है 2014, 17 और 19 में हमारे समाज के लोगों ने 99 परसेंट बीजेपी को वोट दिया लेकिन इसने निषाद समाज को आरक्षण ना देकर सामान्य वर्ग के लोगों को 10 परसेंट का आरक्षण देकर निषादों के साथ बहुत बड़ा छल किया है । इस सरकार के कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क है । वहीं पर आयोजक और पूर्व लोकसभा प्रत्याशी राजाराम निषाद में बताया कि हमारे समाज का डॉक्टर संजय निषाद निषाद समाज को गुमराह करके भाजपा के हाथों बिक चुका है और आरक्षण जैसे गंभीर मुद्दे को सुग्रीव की तरह सत्ता के मद में निषाद हितों को भूल गया है । इसको और भाजपा सरकार को सबक सिखाने के लिए सभी निषादों को एकजुट होकर 2022 में इसका माकूल जवाब दिया जाएगा । उन्होंने बताया कि आरक्षण के नाम पर भाजपा सरकार ने हमारे साथ हमारे समाज के साथ छल किया है इसका जवाब हम बखूबी 2022 में देंगे और पूरे राष्ट्रीय स्तर पर इसके लिए हम निषादों को इकट्ठा करके 2022 में जवाब देंने का काम करेंगे । आचार्य ठाकुर प्रसाद निषाद ने निषाद समाज के ऐतिहासिक ताकत गौरव और इतिहास के बारे में बहुत ही लंबा व्याख्यान दिया । निषादराज महाराज गुह्य से लेकर वीरांगना फूलन देवी तक उन्होंने निषाद के गौरवमई इतिहास के बारे में निषाद समाज को बताया और एकजुट रहकर 2022 में नई कीर्तिमान स्थापित करने के लिए आह्वान किया । मशहूर कथा वाचक सैलानी महाराज और महेंद्र महाराज ने अध्यात्मिकता के आधार पर निषाद समाज को एकजुट होने का आह्वान किया और उनके शिक्षा दीक्षा रहनी करनी ज्ञान ध्यान के बारे में विस्तार से चर्चा किए और आने वाले संघर्षों के बारे में विस्तार से चर्चा की। राष्ट्रीय अपना दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता अमरजीत निषाद एडवोकेट ने 2022 के लिए आज ही से निषादों को कमर कसने के लिए आह्वान किया । इस कार्यकर्ता सम्मेलन का संचालन ग्राम प्रधान राजेंद्र प्रसाद निषाद ने किया। उन्होंने निषाद समाज की एकता और ताकत को एहसास कराते हुए अपने गौरवमई इतिहास को याद कराते हुए जगने और जगाने का आह्वान किया और 2022 के चुनाव में एकजुट होकर अपनी ताकत को दिखाते हुए भारी से भारी बहुमत में राष्ट्रीय अपना दल के नेतृत्व में अपनी सरकार बनाने का आह्वान किया । आयोजक राजाराम निषाद ने बताया कि हम पूरे प्रदेश में चाचा चौधरी के नेतृत्व में और आचार्य ठाकुर प्रसाद निषाद के दिशा निर्देशन में कार्यकर्ता सम्मेलन करते रहेंगे और सभी निषाद भाइयों से आह्वान करेंगे कि 2022 तक राष्ट्रीय दल के नेतृत्व में प्रदेश में भारी बहुमत से सरकार बनाई जाये । गोमती निषाद और रामधारी मास्टर ने निषादों को अपनी गौरवमई इतिहास की चर्चा करते हैं एकजुट रहने का आह्वान किया । इस कार्यकर्ता सम्मेलन को मास्टर श्री राम निषाद, आचार्य महेंद्र निषाद, अमरजीत निषाद ,लालमन निषाद, गोमती निषाद, सनी निषाद, रामधारी मास्टर ,रूद्र शंकर निषाद धनघटा संत कबीर नगर आदि दर्जनों निषादों ने संबोधित किया । गायक हीरालाल निषाद संत कबीर नगर ने अपने गायकी के माध्यम से राष्ट्रीय अध्यक्ष चाचा चौधरी एवं आचार्य ठाकुर प्रसाद निषाद समेत सभी निषादों का स्वागत गीत के माध्यम से निषादों का सम्मान किया ।

 

Back to top button