सुंदर पहलः—अंबेडकर नगर पुलिस का रचनात्मक कार्य 26 गरीब बच्चों के शिक्षा का उठाया बीड़ा अंबेडकरनगर पुलिस और पीके चैरिटेबल ट्रस्ट का संयुक्त प्रयास

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

जनपद अंबेडकर नगर- की पुलिस इस समय रचनात्मक/ सृजनात्मक भूमिका में सराहनीय कार्य करते हुए प्रदेश की पुलिसिंग व्यवस्था के लिए अनुकरणीय कार्य करते हुए 26 गरीब बच्चों के शिक्षा का बीड़ा पीके( प्रभावती कैलाश ) चैरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त प्रयास से उठाया है । अम्बेडकर नगर की पुलिस इन सभी झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले 26 बच्चों की शिक्षा का भार कक्षा 12 तक का जिम्मा अपने ऊपर ली है । इन गरीब दबे कुचले मजनून वंचित बच्चों में जनपद मुख्यालय से फव्वारा चौराहे से पूर्व बांस से विभिन्न सामान बनाकर अपनी जीविका चलाने वाले परिवार ,जगमोहन पेट्रोल पंप के पास पत्थर की मूर्तियों को बना कर जीवन यापन करने वाले परिवार व विद्युत कार्यालय के पास बांस से विभिन्न सामान बनाकर जीवन यापन करने वाले परिवार के बच्चे शामिल हैं । जनपद के पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी एवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र के थिंक टैंक का यह परिणाम है कि शिक्षा जगत से वंचित झुग्गी झोपड़ी में गरीब बच्चे जिनके अभिभावक अपने बच्चों की पढ़ाई लिखाई का खर्च उठाने में सक्षम नहीं है उन्हें जनपद अंबेडकर नगर की पुलिस और प्रभावती कैलाश चैरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त प्रयास से शिक्षा देकर उन्हें एक नया जीवन देने का अवसर प्रदान किया गया। इसी क्रम में जनपद में गरीब बच्चों को चयनित कर उनका दाखिला अशोक स्मारक इंटर कॉलेज तमसा मार्ग मीरानपुर अकबरपुर में कराया गया है। स्कूल के प्रबंधिका श्रीमती रेनू के द्वारा भी अपना सहयोग देते हुए स्कूल फीस व स्कूल बस के किराए में छूट दी गयी है । संयुक्त सहयोग से बच्चों की 1 वर्ष की फीस बस का किराया स्कूल बैग किताबें स्टेशनरी स्कूल ड्रेस प्रदान किया गया । पुलिस विभाग व पीके चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा संयुक्त रूप से सभी 26 बच्चों को कक्षा 12 तक की पढ़ाई का खर्च की स्वयं जिम्मेदारी ली गयी है । बच्चों के माता-पिता को शिक्षा के महत्त्व के संबंध में जागरूक करते हुए बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने का अनुरोध किया गया है। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी इस जनसेवा पुनीत कार्यक्रम में समिति के पदेन अध्यक्ष होंगे एवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र पदेन सदस्य हैं । इनके पर्यवेक्षण में बच्चों की पढ़ाई व उनके उज्जवल भविष्य के लिए निरंतर देखरेख की जायेगी एवं प्रभावती कैलाश चैरिटेबल ट्रस्ट के प्रमुख सदस्य व अशोक स्मारक इंटर कालेज की प्रवंधिका श्रीमती रेनू पदेन सदस्य होंगी । पुलिस अधीक्षक ने बताया कि साथ ही साथ पूरे जनपद में सभी थानों के थानाध्यक्ष 3 गांव गोद लेंगे और उस गांव में जाकर पुलिसिंग कार्य के साथ-साथ वहां से उस गांव के बच्चों को कोरोना के दृष्टिगत पढ़ाई लिखाई व प्रोत्साहन का भी कार्य करेंगे । उन्होंने बताया कि हमारे महिला पुलिस स्टाफ में काफी लोग कंप्यूटर आदि का काफी नॉलेज रखती है और वह नॉलेज /अनुभव इन तीनों गांव के बच्चों के साथ वे शेयर करेंगी पढ़ाएंगी। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि यह विचारधारा पुनीत कार्य अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र के दिमाग की उपज है जो पूरे प्रदेश में अंबेडकरनगर पुलिस का यह अनोखा पहल युनीक है अनुकरणीय है। अंबेडकरनगर पुलिस का यह अनोखा पहल पूरे प्रदेश / देश में अनुकरणीय है यदि प्रदेश के मुखिया व डीजीपी उत्तर प्रदेश अंबेडकरनगर पुलिस के इस पुनीत कार्य को मॉडल जनपद बनाकर पूरे प्रदेश में लागू करें तो इससे पुलिस का चरित्र आम जनमानस में सकारात्मक भूमिका में नजर आने लगेगा और उनके प्रयास को देखकर जनपद में भी संभ्रांत लोग भी मिलकर काफी गरीब बच्चों के पढ़ाई लिखाई का बोझ उठाकर इन गरीबों मजदूरों वंचितों बच्चों के भविष्य का कायाकल्प कर सकेंगे।

Back to top button