बुजुर्ग दंपति की उन्हीं के घर में बेरहमी से हत्या बेकाबू अपराध, घर के भीतर खून से लथपथ मिले दोनों के शव नाती के आने पर पता चली घटना निगोहां क्षेत्र में हुई वारदात का मामला

ए अहमद सौदागर
लखनऊ। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे के तमाम दावों के बावजूद राजधानी लखनऊ में संगीन वारदात होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।
बेखौफ बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस को चुनौती देते हुए निगोहां थाना क्षेत्र स्थित उदयपुर गांव निवासी बुजुर्ग दंपति 58 वर्षीय रामसनेही व 53 वर्षीय राम-जानकी की बेरहमी से हत्या कर मौत की नींद सुला दिया।
गुरुवार को दोपहर बाद उस समय इलाके में हड़कंप मच गया जब दंपति का खून से लथपथ शव कमरे में पड़ा मिला।
दोहरे हत्या की खबर मिलते ही पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे सहित कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की छानबीन शुरू की, लेकिन दंपति की जान किसने और क्यों ली फिलहाल सुराग़ नहीं मिल सका।
जांच-पड़ताल के बाद प्रथम दृष्टया हत्या किए जाने का शक करीबियों पर ही गहरा रहा है।
पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
निगोहां थाना क्षेत्र स्थित उदयपुर गांव निवासी रामसनेही व उनकी पत्नी राम-जानकी घर में अकेले रहते थे। बताया गया कि रामसनेही के तीन बेटे मूलचंद्र दिल्ली में रहता है, जबकि दो बेटे रामनारायण व लक्ष्मी नारायण राती गांव में रहते हैं।
बताया गया कि गुरुवार दोपहर दंपति का नाती विनय नाना नानी को फल देने घर पहुंचा तो वह सन्न रह गया।देखा कि बुजुर्ग दंपति का खून से लथपथ शव कमरे में पड़ा है।
यह माजरा देख विनय करीबियों को सूचना देने के साथ पुलिस को दी।
पुलिस के मुताबिक शवों को देख ऐसा लग रहा है कि हत्या 24 घंटे पहले की गई है।
पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे का कहना है कि जिस क्रूरता से दंपति की हत्या की गई है, उससे मामला रंजिश का लग रहा है।
फिलहाल पुलिस करीबियों समेत कई दिशाओं में छानबीन कर रही है।

Back to top button