समाजसेवी अजय कुमार तिवारी सैकड़ों साथियों के साथ बसपा में शामिल पूर्व सांसद घनश्याम चंद्र खरवार वा जिलाध्यक्ष की उपस्थिति में बसपा की ली सदस्यता

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

 

जनपद अम्बेडकर नगर- में 2022 के दृष्टिगत राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गयी है । जाने-माने समाजसेवी महामहिम राज्यपाल द्वारा सेवारत्न से सम्मानित अजय कुमार तिवारी अपने सैकड़ों साथियों के साथ बसपा कार्यालय पर बसपा में शामिल हुए । पहले से ही सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में जब समाजसेवी अजय कुमार तिवारी का काफिला नारे लगाते हुए हाल में पहुंचा तो वहां पर पहले से मौजूद पूर्व सांसद घनश्याम चंद्र खरवार और बसपा जिलाध्यक्ष अरविंद कुमार गौतम व अन्य कार्यकर्ताओं के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गयी। पूरे सभागार में उपस्थित बसपा कार्यकर्ताओं के नारों से सभागार गुंजायमान हो रहा था । पूर्व सांसद खरवार ने अजय कुमार तिवारी को माला पहनाकर स्वागत अभिनंदन किया पुर्व सांसद ने बताया कि अजय तिवारी जैसे लोगों के आने से जनपद में बसपा खूब विकास करेगी और 2022 में पांचों सीट बसपा के खाते में आयेगी । अजय कुमार तिवारी ने बताया कि प्रदेश सरकार में कानून का राज नहीं रह गया है यहां पर भ्रष्टाचार बेरोजगारी अशिक्षा चरम पर है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में राजा राज और महंत की तिकड़ी ने पूरे प्रदेश के प्रकाशन को हैक कर लिया है । उन्होंने बताया कि बीजेपी सरकार बीएड बीटेक एमटेक बेरोजगार लड़कों को पकौड़ा और मनरेगा में काम करने के लिए कहती है। पूरे प्रदेश में बाबा साहब के संविधान का अपमान और न्यायपालिका की हत्या हो रही है । अजय तिवारी के बसपा में जाने से ब्राह्मणों का रूख धीरे-धीरे बसपा की तरफ जाएगा । गौरतलब है कि विकास दुबे एनकाउंटर के बाद गोरखपुर में हरिशंकर तिवारी के नेतृत्व में ब्राह्मणों सम्मेलन के बाद जनपद अंबेडकर नगर में अजय कुमार तिवारी के बसपा में शामिल होने से धीरे धीरे ब्राह्मण समाज का रूख बसपा की तरफ होगा। हांलाकि सपा बसपा दोनों ब्राह्मण वोट की केमिस्ट्री अपने पक्ष में करने के लिए जी जान से जुटे हैं लेकिन जनपद में बसपा ने सपा से दो कदम आगे बढ़कर अजय तिवारी को नीला झंडा में रंगकर ब्राह्मण केमिस्ट्री को अपने पक्ष में करने की शुरुआत कर दी है । इस कार्यक्रम में बसपा नेता रामसूरत, बलराम निषाद, बिजेंद्र मिश्र, चंद्रशेखर यादव, दिलीप कुमार, राम अचल गौतम, सुनील कुमार, आदि मौजूद रहे।

Back to top button