गौतमपल्ली में रेलवे अफसर की पत्नी व बेटे की हत्या गोली मारकर ली गई जान लूट की आंशका करीबियों पर गहराया शक दिनदहाड़े हुई घटना से इलाके में हड़कंप

ए अहमद सौदागर

लखनऊ। पुलिस अफसरों के तमाम दावों के बावजूद राजधानी लखनऊ में संगीन वारदात होने का सिलसिला थम नहीं रहा है।
गौतमपल्ली थाना क्षेत्र के आफिसर्स कॉलोनी में बदमाशों ने शनिवार को रेलवे में तैनात सीनियर अधिकारी राजीव दत्त वाजपेई की पत्नी मालती व 20 वर्षीय बेटे शरद की गोली मारकर हत्या कर दी, जबकि बेटी को गंभीर रूप से घायल कर दिया।
वारदात को अंजाम देने के बाद कातिल मौके से भाग निकले।
दोनों का खून से लथपथ शव कमरे में बेड पर पड़े मिले। मुख्यमंत्री आवास से चंद कदमों की दूरी पर दोहरे हत्याकाण्ड की सूचना मिलते ही पुलिस अफसरों में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे सहित कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे।
पुलिस डॉग स्क्वायड एवं फिंगरप्रिंट दस्ते के साथ छानबीन की, लेकिन कुछ सुराग नहीं लग सका।
वहीं घटनास्थल के हालात पर गौर करें तो ऐसा लग रहा है कि हत्या किसी गैर नहीं बल्कि करीबी ने ही किया है।
हालांकि इस बाबत पुलिस अधिकारी अभी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।
जांच-पड़ताल के बाद पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
वहीं दिनदहाड़े हुई हत्या से इलाके में सनसनी फ़ैल गई।
दिल्ली में रेलवे में सीनियर अधिकारी के पद पर कार्यरत राजीव दत्त वाजपेई पत्नी मालती, बेटे शरद व बेटी के साथ गौतमपल्ली थाना क्षेत्र स्थित आफिसर्स कॉलोनी में रहते हैं।
बताया गया कि रोज की शुक्रवार को मालती बेटे शरद व बेटी के साथ घर में मौजूद थीं कि बदमाशों ने घर में धावा बोलकर मालती एवं बेटे शरद के सीने में गोलियों की बौछार कर मौत की नींद सुला दिया।
मां और भाई की चीख-पुकार सुनकर घर में मौजूद बेटी कमरे में गई और वहां का मंजर देख चीखने की कोशिश की।
बताया जा रहा है कि बदमाशों ने बेटी को भी गोली मारकर घायल कर दिया है।
वहीं घर में सामान सुरक्षित बताया जा रहा है।
खास बात यह है कि यह वारदात किसी आम स्थान पर नहीं बल्कि मुख्यमंत्री आवास से चंद कदमों की दूरी पर हुई, जहां 24 घंटे भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात रहता है।
मौके पर पहुंचे पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे मातहतों एवं डॉग स्क्वायड एवं फिंगरप्रिंट दस्ते के साथ छानबीन की।
मालती और बेटे का शव कमरे में बेड पर खून से लथपथ पड़ा था, जबकि बेटी घायल होकर तड़प रही थी।
पुलिस अधिकारियों की जांच-पड़ताल के बाद प्रथम दृष्टया हत्या किए जाने का शक किसी करीबी पर ही गहराने की बात सामने आ रही है।
हालांकि कि अभी पुलिस कुछ भी बोलने से कतरा रही है।
सवाल पर बस इतना पुलिस अफसरों का कहना है कि जांच-पड़ताल की जा रही है और जल्द ही कातिल पकड़ लिए जायेंगे।

Back to top button