भू माफिया द्वारा मकान कब्जाने का प्रयास न्याय की आस में डिप्रेशन में पीड़िता भाजपाइयों के समर्थन से भूमाफिया के गैंग का हौसला बुलंद

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

 

जनपद अंबेडकर नगर -कोतवाली आलापुर की नाक के नीचे यूनियन बैंक के सामने मीना निषाद के दो तला रिहायशी मकान को भू माफिया राहुल उपाध्याय पुत्र बालगोविंद निवासी रामनगर महुवर थाना आलापुर जनपद अम्बेडकर नगर द्वारा लगातार दो महीनों से कब्जा करने का प्रयास चल रहा है । बेखौफ भूमाफिया व उसके गैंग के लोग कभी पीड़िता मीना निषाद के रिहायशी मकान पर ताला लगाते है तो कभी पीड़िता को जान से मारने की धमकी देते है। इतना ही नहीं भू माफिया राहुल उपाध्याय खुलेआम आलापुर थाने में बैठकर अपने गुंडागर्दी और गैंग के रोब और रूतबे को सरेआम प्रदर्शन करता है । ऐसा लगता है कि मानो पुलिस की लाठी और कानून का हंटर राहुल के लिए नहीं बल्कि किसी गरीब असहाय की पीठ के लिए ही है । बेखौफ माफिया इस लिए टहल रहा है कि आलापुर के करीब दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता इस भू माफिया व उसके गैंग के समर्थन में पुलिस प्रशासन पर पूरी तरह से दबाव बनाए हुए हैं और योगी के संकल्प गुंडागर्दी का खात्मा, भूमाफियाओं और अपराधियों को जेल के सलाखों में डालने की नियत पर ये भाजपा कार्यकर्ता कुठाराघात कर रहे हैं । 2017 में जहां एक तरफ पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर थी तो ऐसे ही निजी स्वार्थपरता और अकर्मण्य भाजपा कार्यकर्ताओं की वजह से अंबेडकरनगर में भाजपा के खाते में मात्र 2 सीट गयी और ऐसे ही कार्यकर्ताओं की वजह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वयं जलालपुर विधानसभा उपचुनाव में उतरने के बावजूद भी उपचुनाव की सीट सपा के खाते में चली गयी ।2022 में विधानसभा चुनाव सर पर है इसके बावजूद भी आलापुर विधानसभा के दर्जनों कार्यकर्ताओं द्वारा राहुल उपाध्याय जैसे अपराधिक प्रवृत्ति के गुंडे और भू माफिया का साथ देकर भाजपा का बेड़ा गर्क करने में लगे हुए हैं और योगीराज के भयमुक्त समाज की परिकल्पना को धरे धीरे रसातल में पहुंचा कर 2022 के चुनाव में अंबेडकरनगर की पांचों सीट का बेड़ा गर्क कर देंगे। आलापुर विधानसभा के इन भाजपा कार्यकर्ताओं के सहयोग से भूमाफिया थाने में बैठता है और वहीं पर थाना आलापुर कोतवाली के नाक के नीचे गरीब बेबस लाचार 50 वर्षीय महिला मीना निषाद पत्नी परदेसी निषाद निवासी महेशपुर मंडप के मकान में लगातार दो माह से ताला लगाकर पूरे मकान को कब्जाने का प्रयास किया जा रहा है । विधायिका अनीता कमल जो खुद महिला विधायक हैं और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की जिला अध्यक्ष डॉक्टर पूनम राय भी खुद महिला है लेकिन ये लोग भी कुंभकर्णी नींद में सो रहीं हैं। मीना निषाद थाने से लेकर एसपी तक न्याय के लिए दर-दर भटक रही है लेकिन राहुल उपाध्याय जैसे अपराधी प्रवृति के गैंग के लोगों द्वारा गाली गलौज जान से मारने की धमकी से पूरा पीड़िता का परिवार डरा सहमा हुआ है । यहां तक विश्व हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष राम सिंहार गौतम थानाध्यक्ष आलापुर को पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सख्त निर्देश दिये लेकिन इसके बावजूद भी पीड़िता को न्याय मिलने के बजाय उसके भतीजे को मोबाइल फोन पर जान से मारने की धमकी राहुल उपाध्याय व उसके गैंग के साथी शैलेंद्र यादव उर्फ मुनि यादव द्वारा बराबर दी जा रही है । ज्ञातव्य हो कि राहुल उपाध्याय इसके पहले अष्टधातु की मूर्ति चोरी में संदिग्ध था उसके ऊपर कई f.i.r. भी हो चुके हैं ।अभी हाल ही में हिसामुद्दीनपुर गांव में करीब डेढ़ सौ लोगों को साथ लेकर जबरदस्ती दीवार को गुंडागर्दी के साथ उठवाया था और उसने चैन सीकड़ महिलाओं को छीन लिया था जिससे पूरा क्षेत्र दहशत में है । लेकिन इसके बावजूद भी इन्हीं वादाखिलाफी भाजपा कार्यकर्ताओं के वरदहस्त के कारण राहुल उपाध्याय पर कानून का हंटर मौन है । मीना निषाद को न्याय मिले या ना मिले लेकिन 2022 में जनता अंबेडकरनगर में कहीं खुद न्याय करने के लिए इंतजार तो नहीं कर रही है ।

Back to top button