क्षेत्राधिकारी आरपी राय की हर्षोल्लास के साथ विदाई

अंबेडकरनगर ब्यूरो बांकेलाल निषाद

जनपद अंबेडकर नगर- के आम जनमानस के लिए सौम्य स्वभाव एवं अपराधियों के लिए तेजतर्रार छवि के रूप में चर्चित क्षेत्राधिकारी रामप्रवेश राय की विदाई हर्षोल्लास के साथ जलालपुर थानाध्यक्ष मनीष कुमार सिंह की मौजूदगी में जलालपुर के संभ्रांत व्यक्तियों द्वारा हुई । तत्पश्चात क्षेत्राधिकारी जलालपुर के थानाध्यक्ष मनीष कुमार सिंह के साथ जिले के तेजतर्रार पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी एवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र के पास पुलिस लाइन में पहुंचे । पुलिस लाइन में पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में समस्त पुलिस स्टाफ के साथ उनका जिले से भी हर्षोल्लास के साथ विदाई की गयी। जनपद में क्षेत्राधिकारी आरपी राय सन 2018 में आए थे । उनकी पोस्टिंग भीटी आलापुर टांडा और जलालपुर में हुई । जलालपुर क्षेत्राधिकारी के रूप में रहते उनका स्थानांतरण महोबा के लिए हुआ । जलालपुर में विदाई के समय जाते-जाते कई दिनों से एक जटिल मुद्दे को भी सुलझा कर गये। एक बेवा जिसका पेंशन का मामला था उनके दोनों बेटों के बीच पेंशन को लेकर विवाद था जिसको शांतिपूर्ण ढंग से दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर एवं संतुष्ट कर कई दिनों से इस जटिल मुद्दे को हल कर गये । वे साल भर लगभग आलापुर में कार्यरत रहे । वहां पर काफी दिनों से कई मामले को दोनों पक्षों को समझाबुझाकर काफी मामलों को हल किए थे और उसी तर्ज पर भीटी टांडा जलालपुर में भी गांव में जाकर राजस्व टीम की उपस्थिति में दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर हल कर दिया करते थे । वे मामले को हल करने में व्यावहारिक रूप में दोनों पक्षों को काफी प्रभावित कर मामले को हल करने का प्रयास करते थे । फोन पर या क्षेत्र में आम जनमानस से जब मिलते थे तो बहुत ही सौम्य रूप में मिलते थे । आम जनमानस शिकायत कभी भी इनसे करने में संकोच नहीं करता था । आमजनमानस सहज रूप में इनसे अपनी शिकायत बताता था और उस शिकायत को गंभीरता से लेकर राजस्व टीम की सहयोग से या थानाध्यक्ष की उपस्थिति में दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को हल कर दिया करते थे । जनपद में क्षेत्राधिकारी आरपी राय का कुल कार्यकाल लगभग 2 वर्ष 4 माह रहा और सोशल मीडिया पर उन्होंने अंबेडकर नगर जनपद के आवाम का आभारी रहने का और पत्रकार बंधुओं के सहयोग के लिए भी आभार व्यक्त किया और पूरे पुलिस टीम का उन्होंने कृतज्ञता प्रकट की और जाने अनजाने में उनसे हुई भूल का उन्होंने जनपद वासियों से क्षमा प्रार्थी कहा । यह उनका बड़प्पन और सूझबूझ का परिचायक है।

Back to top button