कार सवार बदमाशों ने चालक का किया अपहरण सात लाख रुपए की मांगी फिरौती पांच अपहरणकर्ता गिरफ्तार दिनेश सकुशल बरामद दो कार व तमंचा बरामद

अखिलेश श्रीवास्तव
लखनऊ। विभूतिखंड में दो दिन पहले बाराबंकी जिले के बघौली, टिकैतनगर निवासी शिक्षक मनोज कुमार द्विवेदी के छोटे भाई दिनेश कुमार द्विवेदी को कार सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया। टीचर को फोन करके सात लाख रुपए फिरौती मांगी।
लेखागा व वित्त विभाग में चालक दिनेश के अपहरण व फिरौती की सूचना पर पुलिस हरकत में आ गई। विभूतिखंड पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने सर्विलांस की मदद से पांच अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर दिनेश को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस को आरोपितों के पास से दो चार पहिया वाहन, एक तमंचा व कारतूस बरामद हुआ है।
इंस्पेक्टर विभूतिखंड संजय शुक्ला ने बताया कि बाराबंकी जिले के कोतवाली टिकैतनगर स्थित बघौली निवासी शिक्षक मनोज कुमार द्विवेदी के छोटे भाई दिनेश कुमार द्विवेदी विभूतिखंड के विभवखड में रहते हैं।
दो दिन पहले मनोज के भाई दिनेश अचानक गायब हो गए। एक दिन गुजरने के बाद जब दिनेश घर नहीं पहुंचे घर वालों ने उन्हें तलाशना शुरू किया।
उनका कई सुराग नहीं लगा। इस दौरान अपहरणकर्ताओं ने मनोज के पास फोन किया। फोन करने वालों ने अगवा किए जाने के बारे में बताते हुए सात लाख रुपए फिरौती मांगी।
चालक दिनेश के अपहरण की बात सुनकर मनोज सहित परिवारीजन स्तब्ध रह गए।
घरवालों ने सूचना दी तो पुलिस भी हरकत में आ गई। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने अपहरणकर्ताओं का सुराग लगाया। पड़ताल के दौरान पुलिस ने पीड़ित के साथ बदमाशों द्वारा बताए गए स्थान हैनीमैन चौराहा स्थित पुल के नीचे पहुंच घेरेबंदी कर मौके से पांच अपहरणकर्ताओं को धरदबोचा।
एसीपी स्वतंत्र सिंह के मुताबिक पकड़े गए आरोपियो ने अपना नाम बाराबंकी जिले के टिकैतनगर निवासी देवेंद्र सिंह, विष्णु कुमार मिश्र, खरगापुर गोमतीनगर निवासी सूर्यभान सिंह, टिकैतनगर निवासी घनश्याम सिंह व विनीतखड लखनऊ निवासी अरुण कुमार बताया।
उन्होंने ने बताया कि पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह रुपए के लिए इस घटना को अंजाम दिया।
इंस्पेक्टर का कहना है कि पकड़े गए सभी आरोपी शातिर किस्म के अपराधी है और इनके बारे में गहनता से जांच पड़ताल की जा रही है। पुलिस को इनके पास से दो महंगी लग्जरी कार व अवैध असलहा बरामद हुए हैं।
फिलहाल पुलिस की सक्रियता से चालक दिनेश सकुशल बरामद कर लिया गया। इस सराहनीय कार्य पर पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने टीम की सराहना करते हुए इनाम देने की घोषणा की।

Back to top button