हिंदू महासभा नेता हत्याकांड का राजफाश आरोपी शूटर अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर शूटर की गिरफ्तारी पर कमिश्नर ने 50,000 का रखा इनाम

लखनऊ – हजरतगंज क्षेत्र के ग्लोब पार्क के पास विश्व हिंदू महासभा के नेता रणजीत बच्चन की हुई हत्या का पुलिस ने गुरुवार को राजफाश करने का दावा किया। शक के दायरे में आई मृतक की दूसरी पत्नी स्मृति ने अपने प्रेमी दीपेंद्र व संजीत को कातिल बना गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक मृतक की पत्नी ने ही अपने प्रेमी दीपेंद्र के साथ मिलकर भाड़े के शूटर जितेंद्र से बच्चन की हत्या कराई थी, लेकिन पुलिस की थ्योरी में छेद ही छेद नजर आ रहे हैं।
पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस मैं बताया कि विश्व हिंदू महासभा के नेता रणजीत बच्चन हुसैनगंज स्थित ओसीआर बिल्डिंग में अपनी पत्नी कालिंदी के साथ रहते थे। उन्होंने बताया कि रोज की तरह रणजीत बच्चन अपनी पत्नी कालिंदी और मुंह बोले भाई आदित्य के साथ 2 फरवरी की सुबह घर से टहलने के लिए निकले थे कि इसी दौरान बदमाशों ने बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी थी। कमिश्नर का कहना है कि यह घटना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती थी। दावा किया कि घटना को लेकर पुलिस टीमें लगातार अलग अलग बिंदुओं पर पड़ताल कर रही थी कि इसी बीच जब मृतक की कथित पत्नी स्मृति की कॉल डिटेल निकाली गई तो परत दर परत खुलती चली गई और पुलिस कातिल की गर्दन तक पहुंचने में कामयाब हो गई। पुलिस ने गुरुवार को घटना की योजना बनाने वाली कथित पत्नी स्मृति, उसके प्रेमी दीपेंद्र व संजीत नाम के युवक को गिरफ्तार कर लिया, जबकि मुख्य कातिल यानी शूटर जितेंद्र अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर है। फरार चल रहे शूटर जितेंद्र की गिरफ्तारी पर पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने 50,000 का इनाम घोषित किया है। वही यह घटना का पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम को शासन ने 500000 रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

  1. रिपोर्ट -अहमद सौदागर
Back to top button