डीजी और कमिश्नर की रात्रि गश्त का दिखा असर ए टी एम उखाड़ रहे चोरों को पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा

लखनऊ। राजधानी में कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद पुलिस लगातार अपने रंग में नजर आ रही है अपराध को कम करने का मामला हो या अपराधियों की धरपकड़ हो किसी भी तरीके से पुलिस अपराध को कम करने के क्षेत्र में लगातार शतप्रतिशत देने के लिए कदम दर कदम आगे बढ़ रही है। इसी क्रम में थाना चिनहट अंतर्गत देवा रोड पर स्थित स्टेट बैंक के एटीएम में चोरों ने एटीएम उखाड़ने का कुत्सित प्रयास किया जिस पर प्रभारी निरीक्षक थाना चिनहट सचिन कुमार सिंह के नेतृत्व में काम करने वाली चिनहट पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ लिया। क्षेत्र में डीजी तथा कमिश्नर के आकस्मिक दौरे तथा कुछ पुलिसकर्मियों पर हुई कार्रवाई की वजह से पुलिस अब रात्रि में पूरी तरह मुस्तैद नजर आ रही है।
जिसके फलस्वरूप 3:30 बजे रात में एटीएम चोरी का प्रयास करने वाले चोरों को सूचना मिलते ही चौकी प्रभारी मटियारी गिरीश चंद्र यादव ,उपनिरीक्षक जयप्रकाश यादव, उपनिरीक्षक भूपेंद्र सिंह, कांस्टेबल नवीन कुमार, तथा कांस्टेबल विजय बहादुर ने पहुंच कर चोरों को दौड़ाकर पकड़ लिया चोर पुलिस को देखते ही भागने लगे जिन्हें दौड़ाकर पकड़ने में कांस्टेबल नवीन को हल्की फुल्की चोट भी लग गई। इंस्पेक्टर चिनहट सचिन कुमार सिंह ने बताया चोरों से पूछने पर उन्होंने बताया कि हम एक्सपेरिमेंट कर रहे थे चिनहट ने बताया इंद्रेश राजपूत पुत्र मुनेश्वर राजपूत कल्याण खेड़ा थाना बंथरा तथा तथा दीपांशु पुत्र सजीवन लाल ग्राम कल्लन खेड़ा थाना बंथरा लखनऊ के रहने वाले हैं। उनसे पूछने पर बहुत ही चौंकाने वाली बात सामने आई उन्होंने बताया की चोरों के पास से एक लोहे की रॉड, एक आरी, एक प्लास, एक रेती, तथा एक बाड़ी, आदि बरामद हुआ है । इंस्पेक्टर चिनहट के अनुसार चोर अपना शौक पूरा करने के लिए चोरी करते थे तथा ज्यादा पैसों के लालच में उन्होंने एटीएम उखाड़ने की योजना बनाई जिसको पुलिस की तत्परता ने विफल कर दिया।
उन्होंने बताया की और ना ही किसी प्रकार की आपराधिक प्रवृत्ति में लिप्त लोगों को बख्शा जाएगा। पुलिस दोनों चोरों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर कड़ाई से पूछताछ कर रही है।

Back to top button