लखनऊ में कमिश्नरी सिस्टम लागू होने के बाद पुलिस कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त

लखनऊ- राजधानी लखनऊ में ईमानदार छवि वाले पुलिस कमिश्नर लखनऊ सुजीत पांडे के नेतृत्व में काम कर रहे लखनऊ पुलिस को मिली बड़ी सफलता 4 वर्षीय लाइवा का अपहरण होने की सूचना पुलिस को मिली सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया जिसके बाद लखनऊ पुलिस हरकत में आई पुलिस की कई टीमें गठित की गई जिसमें तेजतर्रार अपर पुलिस उपायुक्त राजेश कुमार श्रीवास्तव दीपक कुमार सिंह आलोक सिंह गुडंबा स्पेक्टर जितेंद्र प्रताप सिंह व अन्य चार पुलिसवालों की टीम बनाकर महज 2 घंटे में लड़की को बरामद कर लिया गया बताया जाता है कि 4 वर्षीय लाइबा का अपहरण करने वाला उसका मामा ही था जो लड़की को घर से ले जाकर मोबाइल फोन पर रूमाल लगाकर आवाज बदलकर ₹1000000 की फिरौती मांग रहा था ना देने पर लड़की को जान से मार देने की बात भी कर रहा था पूरी सूचना के बाद लखनऊ पुलिस हरकत में आई और कई टीमें बनाकर 2 घंटे के अंदर अपहरणकर्ता मामा और 4 वर्षीय लाइव को सकुशल बरामद कर लिया 2 घंटे में लड़की को बरामद करने पर अपर पुलिस उपायुक्त उत्तरी राजेश कुमार श्रीवास्तव दीपक कुमार सिंह आलोक कुमार सिंह गुडंबा स्पेक्टर जितेंद्र प्रताप सिंह जगदीश प्रसाद अहम भूमिका निभाई परिवार वालों ने लखनऊ पुलिस की जमकर तारीफ की कमिश्नरी सिस्टम लागू होने के बाद ईमानदार छवि वाले मिस्टर सुजीत कुमार पांडे के नेतृत्व में लगातार अपराधियों के खिलाफ लखनऊ पुलिस सख्त नजर आ रही है

ब्यूरो रिपोर्ट -अखिलेश श्रीवास्तव

Back to top button