65 वर्षीय बुजुर्ग से हुई दो लाख की टप्पेबाजी अज्ञात मुकदमा दर्ज

वारदात की गंभीरता को देखते हुए अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र भी घटनास्थल पर पहुंचे

जनपद अंबेडकरनगर -के कोतवाली जलालपुर अंतर्गत एक 65 वर्षीय बुजुर्ग के साथ दो लाख की टप्पेबाजी हुई जिसके संबंध में कोतवाली जलालपुर में धारा 420 के अंतर्गत अज्ञात मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पूरा प्रकरण यह है कि मुलायम सिंह डिग्री कॉलेज जलालपुर के प्रबंधक फूलचंद यादव के भाई रामबली यादव डिग्री कॉलेज की फीस को दो लाख रुपए यूनियन बैंक में जमा करने के लिए गये। यूनियन बैंक में करीब घंटो बीत जाने पर सर्वर डाउन होने का हवाला देते हुए बैंक मैनेजर ने इस 65 वर्षीय बुजुर्ग को कहा कि यहां यूनियन बैंक में सर्वर डाउन है आप पोस्ट ऑफिस ले जाकर पैसा जमा कर दीजिए ।इस बुजुर्ग के इर्द-गिर्द दो से तीन लड़के यूनियन बैंक के अंदर संदिग्ध हालत में घूमते और बाहर निकलते हुए सीसी फुटेज में दिखाई दिये और बुजुर्ग जैसे ही वहां से निकलकर पोस्ट ऑफिस के पास पैसा जमा करने के लिए खड़ा हुआ तो तैसे ही यह संदिग्ध लड़के अपनी एक चाबी और काली पन्नी में रखी कोई चीज बुजुर्ग को पकड़ा कर उससे पैसा ले लिए । लेकिन बुजुर्ग एक बार भी नहीं चिल्लाया कि मेरा पैसा लेकर यह लोग जा रहे हैं । पैसा जाने के 2 घंटे बाद थाने पहुंचकर बुजुर्ग ने अपनी सारी घटना बतायी। आनन-फानन में पुलिस सक्रिय हुई। सीसी फुटेज खंगाला गया उस में पाया गया कि 2 से तीन संदिग्ध लड़के बैंक में बुजुर्गों के इर्द-गिर्द घूम रहे थे वह बाहर भी निकले। संदिग्धों अपना सामान और चाबी पकड़ा कर बुजुर्ग से पैसा आसानी से थामना और बुजुर्ग का तत्काल ना चिल्लाना यह पूरा प्रकरण टप्पे बाजी का दिख रहा है । तत्काल थोड़ी ही देर बाद अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र भी मौके पर घटनास्थल का मुआयना किए और पुलिसकर्मियों को सीसी फुटेज और बुजुर्गों द्वारा दी गई शिनाख्त के आधार पर इन संदिग्धों को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए निर्देशित किए। क्षेत्राधिकारी आरपी राय एवं कोतवाल प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि सीसी फुटेज में संदिग्ध लड़कों को पहचान किया जा रहा है जैसे ही पहचान में आएगा उसके खिलाफ त्वरित कार्यवाही की जाएगी। गौरतलब है कि ₹200000 जमा करने के लिए 65 वर्षीय बुजुर्ग से पैसा जमा करने के लिए यदि भेजा जाएगा तो कोई भी इनके साथ टप्पे बाजी आसानी से कर जाएगा। इससे शासन-प्रशासन के लिए परेशानी बढ़ जाती है।

ब्यूरो रिपोर्ट -बांकेलाल निषाद

Back to top button